विंडोज ट्यूटोरियल | Windows Tutorial for Beginners in hindi

500

Windows Tutorial for Beginners in hindi :  विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है ? → एक ऑपरेटिंग सिस्टम प्रोग्राम है।  जो आपके सम्पूर्ण कंप्यूटर की गतिविधियों को सुनिश्चित करने के लिए कंट्रोल करता  है ताकि कंप्यूटर आसानी से, सुचारू रूप और पूरी योग्यता के साथ चले। माइक्रोसॉफ्ट विंडोज के बहुत से वर्जन समय समय पर आते रहते है।  जिसमे विंडोज एक्सपी एक बहुत ही ज्यादा  इस्तेमाल  किया जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम था।  था इसलिए क्यूंकि अब विंडोज एक्सपी के ऑपरेटिंग सिस्टम माइक्रोसॉफ्ट ने बनाने बंद कर दिए है।  अब इसके नए वर्जन जैसे विंडोज 7 विंडोज 8.  और विंडो 10 आ गए है।  जोकि बहुत ही अच्छी परफॉरमेंस देने के साथ यूजर को अपनी और आकर्षित करने की पूरी योग्यता रखते है।  आज में आपको विंडोज के ऑपरेटिंग सिस्टम  पर काम या इनको कैसे चलाया जाये इस पोस्ट के द्वारा बताने का पूरा प्रयास करूँगा।  यदपि मैंने सभी चीज़ो को बताने की पूरी कोशिस की है।  फिर भी यदि कुछ छूट जाता है तो आप मुझे कमेंट के द्वारा पूंछ सकते है।

विंडोज ट्यूटोरियल | Windows Tutorial for Beginners in hindi

औसत रूप से विंडोज के नए ऑपरेटिंग सॉफ्टवेयर पुराने सिस्टम से ज्यादा तेज़ होते है।
विंडोज को सही तरीके से काम करने के लिए कंप्यूटर में हार्डवेयर की आवश्यकता क्या होती है यह जान लेते है ।

विंडोज एक्सपी  की जरुरत windows Xp  system requirements

  • Pentium 233-megahertz (MHz) processor or faster (300 MHz तो होना ही चाहिए )
  • कम से कम  64 megabytes (MB) of RAM (128 MB होना ही चाहिए )
  • कम से कम 1.5 gigabytes (GB) हार्ड डिस्क में खाली जगह .
  • CD-ROM या  DVD-ROM drive.

विंडो सात  की जरुरत   windows 7 system requirements

  • 1 gigahertz (GHz) or faster 32-bit (x86) or 64-bit (x64) processor.
  • 1 gigabyte (GB) RAM (32-bit) or 2 GB RAM (64-bit)
  • 16 GB हार्ड डिस्क में खाली जगह (32-bit) or 20 GB (64-bit)
  • DirectX 9 graphics device with WDDM 1.0 or higher driver

विंडो 8 की जरुरत .  windows 8 system requirements

  • Processor: 1 gigahertz (GHz) or faster with support for PAE, NX, and SSE2
  • RAM: 1 gigabyte (GB) (32-bit) or 2 GB (64-bit)
  • हार्ड डिस्क में खाली जगह: 16 GB (32-bit) or 20 GB (64-bit)
  • Graphics card: Microsoft DirectX 9 graphics device  WDDM driver के साथ।

विंडो 10 की जरुरत   windows 10 system requirements

  • Processor: 1 gigahertz (GHz) or faster.
  • RAM: 1 gigabyte (GB) (32-bit) or 2 GB (64-bit)
  • हार्ड डिस्क में खाली जगह: 16 GB.
  • Graphics card: Microsoft DirectX 9 graphics device with WDDM driver.
  • एक  Microsoft account और  Internet access.

विंडोज ट्यूटोरियल | Windows Tutorial for Beginners in hindi

विंडो के अवयव Window Components

My Computer → 

कंप्यूटर के स्क्रीन पर माय कंप्यूटर नाम का एक छोटा सा आइकॉन होता है।  इस आइकॉन को खोलने पर आप सीधे ही कंप्यूटर के सारे ड्राइव को देख सकते है और काम कर सकते है।


My Documents → 

 इस आइकॉन से आप जहाँ कंप्यूटर पर किये गए सभी कार्यो को सेव करने की जगह पर सीधे तौर पर पहुंच प्रदान करता है।  


Recycle Bin →  

कंप्यूटर पर किसी भी फाइल या फोल्डर को जब डिलीट किया जाता है तो वह रीसायकल बिन में पहुंच जाता है।  जिसको आप चाहे तो दुबारा रिस्टोर कर सकते है।  डिलीट की गई फाइल्स को देखने के लिए इस आइकॉन के द्वारा आसानी से जाया जा सकता है।  


My Network Places →

इंटरनेट कनेक्शन व शेयर की गई सभी फोल्डर को देखने के लिए इस आइकॉन के द्वारा जाया जा सकता है।

Desktop → 

यह कंप्यूटर स्क्रीन की पृष्ठ भूमि होती है।  जहा आइकॉन फोल्डर व फाइल को आसानी से खोलने के लिए रखा जाता है।  साथ ही आप इसके बैकग्राउंड में अपनी मन पसंद कोई भी इमेज को लगा सकते है।  

Start Button →  

यह एक बटन होता है जिसके द्वारा कंप्यूटर में उपलब्ध सभी प्रोग्राम्स या एप्लीकेशन को खोला जाता है।

Quick Launch Toolbar → 

यह एक तरह की सुविधा होती है जिसके द्वारा जिन प्रोग्राम को आप ज्यादा उपयोग करते है।  उनको आप अपने सामने रख कर आसानी से पहुंच सकते है। 



Taskbar →  

कंप्यूटर स्क्रीन के सबसे निचले भाग को विंडोज टास्क बार कहा जाता है।  यहाँ बहुत से बटनों  की एक श्रृंखला होती है।  जो यूजर को काम करने में सुविधा प्रदान करती है।

Clock → 

 यह कंप्यूटर के दिनाँक  और वर्तमान समय को दर्शाती है।  यह दाई तरह कोने में होती है।

Window → 

 जब कोई भी प्रोग्राम को खोला जाता है तो सामने एक स्क्रीन उभर कर सामने आती है।  इसी को विंडो कहा जाता है यह आयताकार क्षेत्र की तरह दिखाई पड़ता है।  

Scrollbar →

जब किसी विंडो को खोला जाता है यदि उसमें बहुत ज्यादा फाइल और फोल्डर है तो सभी को देखने के लिए एक फ्रेम बन जाता है जिसको ऊपर, नीचे, दाए और बाये कर्सर के द्वारा करके सभी चीज़ो को देखा जाता है।  इसको स्क्रोलबार कहते है।

Title Bar → 

 जो विंडो  या कोई प्रोग्राम खुला होता है तो सबसे ऊपर उसका नाम दिखाई देता है। उस जगह को टाइटल बार कहते है।

मुझे आशा है की अभी तक जो भी जानकारी आपको दी गई है वह आपको अच्छी तरह से समझ आ गई होगी।  किन्तु फिर भी आपके मन में कोई प्रश्न है तो आप मुझे कमेंट कर सकते है।  आपका सादर अभिनन्दन है।

मुफ्त कंप्यूटर हार्डवेयर और नेटवर्किंग कोर्स

आगे पढ़िए →

स्टार्ट बटन पर काम करना। Work on the start button
विंडो को एक जगह से दूसरी जगह ले जाना।  Window to move from one place to another place
विंडो को छोटा और बड़ा करना। To minimize and maximize  the window.
विंडो को बंद करना। Close Window
कंप्यूटर को बंद करना। Shut Down Computer
विंडोज के हेल्प और सपोर्ट के बारे में जानना। Learn about toWindows Help and Support.
डेस्कटॉप का बैकग्राउंड बदला। Change desktop background.
स्क्रीन सेवर को लगाना। Set the screen saver.
स्क्रीम के एपेयेरेन्स को बदलना। Scream change the Appearance.
स्क्रीन रेज्योलूशन  को बदलना। Change Screen Resolution.
तारीख और टाइम सेट करना। Setting the date and time.
डेस्कटॉप थीम को बदलना। Change desktop theme.
माउस सेटिंग को बदलना। Change mouse settings.
फाइल और फोल्डर को वयवस्थित करना। Manage To File and folder.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.