vitamin E capsules

विटामिन ई यानी फायदे ही फायदे

vitamin E capsules विटामिन ई यानी फायदे ही फायदे: हमारे शरीर के लिए सभी पोषक तत्व बहुत जरुरी है। चाहे वह प्रोटीन हो या फिर विटामिन। विटामिन की कमी हमारे शरीर में कई रोग उत्पन्न कर देती है। और इनकी सही मात्रा हमें कई रोगों से बचा भी लेती है। एक महत्वपूर्ण तत्व विटामिन ई कि हमारे शरीर के लिए बहुत आवश्यक है। आइए जाने की विटामिन ई हमारे लिए किस प्रकार लाभप्रद है।

विटामिन ई के स्त्रोत और  विटामिन ई कैप्सूल के फायदे

विटामिन ई कैंसर की संभावनाओं को कम करता है। और कैंसर रोगियों के लिए भी इसका सेवन अच्छा है। अगर शरीर में कैंसर कोशिकाएं पनप रही हो तो, वह भी सामान्य हो जाती है। विभिन्न देशों से यह भी सामने आया है। कि जिनमे विटामिन ई की कमी होती है। उन्हें कैंसर होने की संभावना अधिक होती है।

विटामिन ई हृदय के लिए भी अच्छा माना जाता है। और दिल के रोगों के खतरे को भी कम करता है। हृदय रोग होने की संभावना भी कम रहती है। विटामिन डी एल डी एल चिकनाई या कोलेस्ट्रॉल को आक्सीजन में मिलने नहीं देता।

विटामिन ई एक शक्तिशाली एंटीआक्सीडेंट है। लेकिन विटामिन ई की अधिक मात्रा नुकसान भी पहुंचा सकती है। इसलिए डॉक्टर से पूछ कर ही इसका सेवन करना चाहिए। अगर वह खून का प्रवाह सही प्रकार से ना हो रहा हो तो विटामिन ई की मात्रा रक्त प्रवाह को बढ़ाकर शरीर की ताकत बढ़ाती है।

विटामिन ई ना केवल स्वास्थ्य के लिए है। बल्कि सौंदर्य के लिए भी अच्छा है। यह झुर्रियों को कम करता है। और त्वचा को संगठित करता है। तथा त्वचा को प्रदूषित करने वाले तत्वों से बचाता है। शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मददगार होता है।

फिटकरी के लाभ
नाखून को सुंदर बनाने के टिप्स 
beauty tips hindi चेहरे की सुंदरता के लिए घरेलु नुस्खे
अगर आप अच्छी संतान चाहते है तो करे यह उपाय
मासिक धर्म क्या है 
गर्भवती कैसे हों ?
सांडे का तेल क्या है?

विटामिन ई की कमी के लक्षण  : विटामिन ई की कमी से होने वाले रोग

  • शरीर के अंगों का सही तरह से कार्य न कर पाना।
  • शरीर की मांसपेशियों में कमजोरी आ जाना।
  • आंखों में असामान्य स्थिति पैदा हो जाना।
  • नेत्र दृष्टि का कमजोर हो जाना।
  • दिखने में झिलमिलाहट महसूस होना।
  • चलते चलते लड़खड़ाना शारीर में कमजोरी महसूस होना।
  • प्रजनन शक्ति का कमजोर हो जाना।
  • शरीर में कमजोरी ज्यादा महसूस होना।

विटामिन ई के स्रोत

विटामिन ई के अच्छे स्रोत हैं। :

वनस्पति तेल, हरी पत्तेदार सब्जियां, दूध, दाल, मक्खन, चोकर युक्त आटा इत्यादि।

ध्रुमपान से विटामिन ई नष्ट हो जाता है। इसलिए ध्रुमपान शरीर को नुकसान पहुंचाता है।

गाय के दूध में खनिज और प्रोटीन और विटामिन प्रचुर मात्रा में होते हैं। और दूध विटामिन ई का बहुत अच्छा स्रोत है। इसलिए गाय का दूध हल्का पीला होता है।

आप हमसे  Facebook, +google, Instagram, twitter, Pinterest और पर भी जुड़ सकते है ताकि आपको नयी पोस्ट की जानकारी आसानी से मिल सके। comment करके आप अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे।

6 comments

  1. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति ….. very nice … Thanks for sharing this!! 🙂 🙂

  2. Bahut aachi jankari hai… Thanks

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.