पारिजात का पौधा किस दिशा में लगाना चाहिए

धन की देवी घर में रहेंगी पीढ़ियों तक, सही दिशा में रखें घरेलू पौधे

अक्सर लोग अपने घरों में या लॉन में छोटे पौधे लगाते हैं। भवन में ही छोटे पौधे बहुत महत्वपूर्ण हैं। ऐसे कई पौधे हैं जिनका घर में लगाए गए छोटे पौधों में औषधीय महत्व है। [किस दिशा में लगाना चाहिए] इसी समय, उनका रसोई या सौंदर्य महत्व है। vastu plants for money  आज के समय में जगह के अभाव में, लोग अक्सर गमलों में पेड़ लगाते हैं या उन्हें लॉन और ड्राइंग रूम में सजाते हैं। इन पौधों की वजह से, जो छोटे फ्लैटों में रहते हैं वे प्रकृति के करीब महसूस करते हैं और स्वच्छ हवा और स्वच्छ वातावरण का आनंद लेते हैं।

तुलसी का पौधा एक ऐसा छोटा पौधा है जिसका औषधीय और आध्यात्मिक दोनों ही महत्व है। अक्सर हर हिंदू परिवार के घर में तुलसी का पौधा होता है। इसे एक दिव्य पौधा माना जाता है।

ऐसा माना जाता है कि जिस स्थान पर तुलसी का पौधा होता है, वहां भगवान विष्णु का वास होता है। इसी समय, पर्यावरण में बीमारी फैलने और हवा में विभिन्न वायरस होने की संभावना कम होती है। तुलसी के पत्तों के सेवन से कफ, खांसी, एलर्जी आदि रोग भी नष्ट हो जाते हैं।

बेल का पौधा किस दिशा में लगाना चाहिए

वास्तु शास्त्र के अनुसार पौधों को किस दिशा में लगाया जाना चाहिए

वास्तु शास्त्र के अनुसार, छोटे पौधों को किस दिशा में लगाया जाना चाहिए ताकि हम उन पौधों के गुणों को प्राप्त कर सकें, इसकी चर्चा यहां की जा रही है।

तुलसी के पौधे किस दिशा में लगाना चाहिए

अगर तुलसी के पौधे को घर की उत्तर-पूर्व दिशा में रखा जाता है, तो अचल लक्ष्मी की आदत होती है, अर्थात उस घर में आने वाली लक्ष्मी ठहर जाती है।

फूल वाले पौधे किस दिशा में लगाना चाहिए

घर की पूर्वी दिशा में फूल वाले पौधे, हरी घास और मौसमी पौधे लगाने से उस घर में गंभीर बीमारियों का प्रकोप नहीं होता है।

पपीता, चंदन, हल्दी, नींबू के पौधे किस दिशा में लगाना चाहिए

पपीता, चंदन, हल्दी, नींबू आदि के पौधे भी घर में लगाए जा सकते हैं। इन पौधों को ईशान कोण में रखने से घर के सदस्यों में आपसी प्रेम बढ़ता है।

घर के चारों कोनों को ऊर्जावान बनाने के लिए गमलों में भारी पौधा रखा जा सकता है। यदि दक्षिण-पश्चिमी कोने में एक भारी पौधा है, तो उस घर के मुखिया को व्यर्थ की चिंताओं से मुक्त किया जाता है।

कैक्टस समूह के पौधे किस दिशा में लगाना चाहिए

कैक्टस समूह के पौधे जिनके नुकीले भाग वास्तु शास्त्र के अनुसार उपयुक्त नहीं हैं।

घर के बगीचे में पलाश, नागकेसर, दुर्गा, शमी

घर के बगीचे में पलाश, नागकेसर, दुर्गा, शमी आदि लगाना शुभ होता है। शमी का पौधा ऐसी जगह पर लगाना चाहिए जो घर से बाहर निकलते समय दाईं ओर गिरे।

घर के बगीचे में पीपल, बबूल, कटहल

घर के बगीचे में पीपल, बबूल, कटहल आदि का रोपण वास्तु शास्त्र के अनुसार ठीक नहीं है। इन पौधों से घर में हमेशा अशांति का माहौल रहता है।

सभी फूल, गुलाब, रात की रानी, ​​चंपा, जैस्मीन

फूलों के पौधों में, सभी फूल, गुलाब, रात की रानी, ​​चंपा, जैस्मीन आदि को घर के अंदर लगाया जा सकता है, लेकिन लाल मग और काले गुलाब के जुड़ने से चिंता और शोक बढ़ जाता है।

बेडरूम के अंदर पौधे

बेडरूम के अंदर पौधे लगाना अच्छा नहीं माना जाता है। यदि बेल के पौधे बेडरूम में लगाए जाते हैं, तो वे आपसी विश्वास और आपसी विश्वास को बढ़ाते हैं।

अध्ययन कक्ष के अंदर के पौधे

अध्ययन कक्ष के अंदर सफेद फूल के पौधे लगाने से स्मरण शक्ति बढ़ती है। पॉट को अध्ययन कक्ष के पूर्व और दक्षिण कोने में रखा जाना चाहिए।

रसोई के अंदर पुदीना, धनिया, पालक, हरी मिर्च के छोटे पौधे

रसोई के अंदर पुदीना, धनिया, पालक, हरी मिर्च आदि के छोटे पौधे लगाए जा सकते हैं। वास्तु शास्त्र और आहार विज्ञान के अनुसार, रसोई और कियोस्क में ऐसे पौधे होते हैं जो मक्खियों और मुर्गे को अधिक तंग नहीं करते हैं और पकने वाली सामग्री सदस्यों को स्वस्थ रखती है।

घर के अंदर कंटीले पौधे

घर के अंदर कंटीले एवं वैसे पौधे जिनसे दूध निकलता हो, नहीं लगाने चाहिएं। ऐसे पौधे लगाने से घर में वैमनस्य का भाव की भावना बढ़ती है और हमेशा अशांति का माहौल बना रहता है।

घर में बोनसाई पौधे वास्तु शास्त्र के अनुसार

घर में बोनसाई पौधे वास्तु शास्त्र के अनुसार उपयुक्त नहीं होते हैं क्योंकि बोनसाई को प्रकृति के विरुद्ध छोटा कद दिया जाता है। जिस तरह बोन्साई का विस्तार संभव नहीं है, उस घर का विकास भी बौना बना हुआ है।

बेल के पेड़ किस दिशा में लगाना चाहिए

भगवान शिव को बेल बहुत प्रिय है। भगवान शिव पालन के अनुसार बेल के पेड़ पर रहते हैं। जिस घर में यह वृक्ष होता है, वहाँ माँ लक्ष्मी पीढ़ियों तक रहती हैं।

Vastu Plants Price Online

[content-egg module=Amazon template=list]
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.