Home / Jyotish / वास्तु के ये 5 दोष करवाते है घर में लड़ाई झगड़ा

वास्तु के ये 5 दोष करवाते है घर में लड़ाई झगड़ा

ज्योतिष में वास्तु का विशेष महत्व होता है। वास्तु के उपाय से निजी जीवन और प्रोफेशनल लाइफ में फैली तमाम तरह की परेशानियों को दूर किया जा सकता है। यह कुछ ऐसे ही टिप्स हैं जिन्हें अपनाकर सभी तरह की परेशानियों से पीछा छुड़ाया जा सकता है।

  • वास्तु शास्त्र में ईशान कोण का विशेष महत्व होता है इस दिशा को बहुत ही शुभ माना जाता है। घर का ईशान भाग उठा हुआ नहीं होना चाहिए। घर के इस हिस्से में यह दोष होने से पिता-पुत्र के बीच दूरियां बढ़ती है।
  • दरअसल, वास्तुशास्त्र में ईशान कोण जमीन के उस कोने को कहते हैं जो उत्तर-पूर्व दिशा में स्थित होता है. यह उत्तर और पूर्व दिशा का मिलन बिंदु है.
  • घर के उत्तर पूर्व कोने में स्टोर रूम नही बनवाना चाहिए ऐसा करने से भी घर के सदस्यों के बीच लड़ाई-झगड़ा होता है।
  • वास्तु अनुसार उत्तर पूर्वी दिशा में रसोई घर या शौचालय होने पर घर के सदस्यों की बीच में मनमुटाव बना रहता है। इस परेशानी को दूर करने के लिए घर के उत्तर पूर्वी दिशा में रसोईघर या शौचालय नही होना चाहिए।
  • वास्तुशास्त्र के मुताबिक़ ईशान कोण पर देवी-देवताओं और आध्यात्मिक शक्तियों का वास रहता है. किसी घर में ईशान कोण को सबसे पवित्र कोना माना जाता है. इसी वजह से इस दिशा में रसोई घर, शौचालय या कूड़ा-कचरा घर जैसे निर्माण पूरी तरह वर्जित माना जाता है.
  • ईशान कोण पर बिजली के उपकरणों को रखने से पिता पुत्र के बीच अनबन बनी रहती है। घर के उत्तर पूर्वी दिशा में इन चीजो को नही रखना चाहिए।
  • वास्तु के अनुसार घर के उत्तर-पूर्व दिशा में कूड़ेदान नहीं रखना चाहिए इससे घर के सदस्यों के बीच में मनमुटाव रहता है।
  • धार्मिक शास्त्र में भगवान शिव का भी एक नाम ईशान है. उत्तर पूर्व दिशा में भगवान शिव के आधिपत्य की वजह से इस दिशा को ईशान कोण कहा जाता है. यह क्षेत्र सबसे शुभ, ऊर्जा का स्रोत माना जाता है.
  • इस क्षेत्र को इसलिए भी शुभ माना जाता है क्योंकि यहां पवित्र ईश्वरीय शक्तियां बढ़ती हैं. इस क्षेत्र में देवताओं के गुरु बृहस्पति और मोक्ष कारक केतु का वास होता है.

यदि आपके घर में भी इस तरह के वास्तु दोष है तो उनके ठीक करके अपनी समस्या से छुटकारा पाइये।

One comment

  1. south face home vastu ke acording kaisa hota hai please bataye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *