Breaking News
Home / Jyotish / मनचाही स्त्री अथवा पुरुष का वशीकरण करने का सरल उपाय टोटके

मनचाही स्त्री अथवा पुरुष का वशीकरण करने का सरल उपाय टोटके

स्त्री वशीकरण के टोटके – वैसे तो वशीकरण के अनेक तरीके प्रचलित है जिनमे से vashikaran ke saral upay कुछ सावर्जनिक रूप से है और कुछ बहुत ही गोपनीय एवम अति प्रभावशाली है. तंत्र, मंत्र तथा यंत्र के क्षेत्र में ही वशीकरण के कई अनेक अचूक और 100 प्रतिशत प्रमाणिक साधन अथवा उपाय उपलब्ध है. लेकिन हर प्रयोग में किसी न किसी विशेष विधि एवम नियम कायदों का पालन करना पड़ता है.

पीपल के पत्ते से वशीकरण

पीपल के पत्ते से वशीकरण

आप सबसे पहले किसी भी दिन दो सूखे हुए पीपल के पत्ते तोड़ ले, नीचे से न उठाए, कुछ पीले/सूखे से हो, आप जिस से प्यार करते है, या जिस व्यक्ति को वशीकरण करना चाहते हो उस का नाम दोनों पीपल के पत्तो पर लिख दे, एक पत्ते को वही पीपल के पेड़ के पास उल्टा कर के रख दे और उस पर भारी पत्थर रख दे, और दुसरे पत्ते को घर की छत पर उल्टा कर के रख दे और उस पर भी पत्थर रख दे, और प्रतिदिन पीपल के पेड़ में पानी भी चढाये ! कुछ दिन बाद आप को वह व्यक्ति संपर्क करेगा और वो आपकी तरफ आकर्षित होने लगेगा !

वशीकरण के चमत्कारी उपाय

अगर पति या प्रेमी का पत्नी या प्रेमिका के प्रति प्यार कम हो गया हो तो श्री कृष्ण का स्मरण कर तीन इलायची अपने बदन से स्पर्श करती हुई शुक्रवार के दिन छुपा कर रखें। जैसे अगर साड़ी पहनतीं हैं तो अपने पल्लू में बांध कर उसे रखा जा सकता है और अन्य लिबास पहनती हैं तो रूमाल में रखा जा सकता है। (तुलसी से 2 घंटे में मुंहमांगी इच्छा पूरी करने का खतरनाक टोटका करें)
शनिवार की सुबह वह इलायची पीस कर किसी भी व्यंजन में मिलाकर पति या प्रेमी को खिला दें। मात्र तीन शुक्रवार में स्पष्ट फर्क नजर आएगा।
पति की रूचि पत्नी में कम हो गयी हो तो दोनों साथ भोजन करें और भोजन के समय चुपके से पत्नी पति के खाने में अपनी थाली से थोड़ा भोजन रख दे। इससे पति फिर से पत्नी में रूचि लेने लगता है।

पति-पत्नी के रिश्तों में प्रेम के लिए करें यह काम

पति-पत्नी के रिश्तों में प्रेम के लिए करें यह काम

ज्योतिषशास्त्र में कुण्डली के सातवें घर को विवाह एवं वैवाहिक सुख का स्थान माना गया है। जिनकी कुण्डली में इस घर में राहु होता है उनके वैवाहिक जीवन में कठिनाई आने की संभावना रहती है।

ऐसे व्यक्तियों को 40 दिनों तक बादाम या नारियल बहते पानी में प्रवाहित करना चाहिए। इससे पति-पत्नी के रिश्तों में प्रेम और तालमेल बना रहता है।

जिन स्त्रियों के पति किसी अन्य स्त्री के मोहजाल में फंस गये हों या आपस में प्रेम नहीं रखते हों, लड़ाई-झगड़ा करते हों तो इस टोटके द्वारा पति को अनुकूल बनाया जा सकता है।

गुरुवार अथवा शुक्रवार की रात्रि में या पीरियड के समय में रात्रि 12 बजे पति की चोटी (शिखा) के कुछ बाल काट लें और उसे किसी ऐसे स्थान पर रख दें जहां आपके पति की नजर न पड़े। ऐसा करने से आपके पति की बुद्धि का सुधार होगा और वह आपकी बात मानने लगेंगे। कुछ दिन बाद इन बालों को जलाकर अपने पैरों से कुचलकर बाहर फेंक दें। मासिक धर्म के समय करने से अधिक कारगर सिद्ध होगा।

होली जलते समय तीन अभिमंत्रित गोमती चक्र लेकर उस महिला का नाम लेकर थोडा सिन्दूर लगाकर होली की अग्नि में फैंक दें|पति का उस महिला से पीछा छूट जायेगा|

जब आपको लगे की आपके पति किसी महिला के पास से आरहें हैं तो आप किसी भी बहाने से अपने पति का आंतरिक वस्त्र लेकर उसमे आग लगा दें और राख को किसी चौराहे पर फैंक कर पैरों से रगड़ कर वापिस आजाएं.

शुक्ल पक्ष के रविवार को 5 लौंग शरीर में ऐसे स्थान पर रखें जहां पसीना आता हो व इसे सुखाकर चूर्ण बनाकर दूध, चाय में डालकर जिस किसी को पिला दी जाए तो वह वश में हो जाता है। स्त्री वशीकरण के टोटके

सवा पाव मेहंदी के तीन पैकेट (लगभग सौ ग्राम प्रति पैकेट) बनाएं और तीनों पैकेट लेकर काली मंदिर या शस्त्र धारण किए हुए किसी देवी की मूर्ति वाले मंदिर में जाएं। वहां दक्षिणा, पत्र, पुष्प, फल, मिठाई, सिंदूर तथा वस्त्र के साथ मेहंदी के उक्त तीनों पैकेट चढ़ा दें। फिर भगवती से कष्ट निवारण की प्रार्थना करें और एक फल तथा मेहंदी के दो पैकेट वापस लेकर कुछ धन के साथ किसी भिखारिन या अपने घर के आसपास सफाई करने वाली को दें। फिर उससे मेहंदी का एक पैकेट वापस ले लें और उसे घोलकर पीड़ित महिला के हाथों एवं पैरों में लगा दें। पीड़िता की पीड़ा मेहंदी के रंग उतरने के साथ-साथ धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगी। (शनि के प्रभाव – क्या करें जब Shani अशुभ हो, जानिए सरल शनि के उपाय)

Next…..

2 comments

  1. में एक लडकी बहुत प्यार करता हु पर वह मेरा तरप ध्यान नही देता है क्या चाहिये

  2. Me ek ladki ko bahot pyar karta hu per vo sunti nahi hai to uska saral upay bataie

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *