क्या मैं गर्भावस्था के दौरान अच्छी नींद के लिए दवाएं ले सकती हूं?

यदि आप प्रेगनेंसी में अच्छी तरह से नींद नहीं ले पारी है तो आपको बिना प्रिस्क्रिप्शन के नींद के लिए दवाएं लेना अच्छा विकल्प लगे। लेकिन गर्भावस्था के दौरान नींद की कोई भी दवा न लेना बेहतर है। इनमें हर्बल दवाएं और उपचार भी शामिल हैं! जब आपको नींद नहीं आती है तो जाहिर सी बात है की आप किसी चीज़ का सहारा लेना चाहेंगी। लेकिन, प्रेगनेंसी के समय कोई भी नींद के लिए दवाएं लेने से पहले, आपको अपने डॉक्टर से जरूर पूछना चाहिए।

अगर प्रेगनेंसी के दौरान अनिद्रा, आप रात में आराम से सो नहीं सकते हैं। तो नीचे गर्भावस्था की कुछ सामान्य शिकायतें हैं, जो आपकी नींद उड़ा सकती हैं:

  • *अपने बच्चे के बारे में चिंता करना
  • *पैर कांपना और ऐंठन
  • *एसिडिटी और सीने में जलन
  • *अनिद्रा
  • *जी मिचलाना

कभी-कभी नींद न आना (अनिद्रा) भी अवसाद का एक लक्षण है। लेकिन यह अवसाद के कई कारणों में से एक है। यह अवसाद का एकमात्र कारण नहीं है।

इन लक्षणों में उदासी की लगातार भावना, भूख न लगना, किसी काम में रुचि की कमी और लगातार चिंता शामिल है। अगर आपको भी ऐसा लगता है तो अपने डॉक्टर से बात करें। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितना बुरा महसूस करते हैं, अपनी भावनाओं को व्यक्त करने से डरो मत। डॉक्टर आपको आवश्यक सहायता देंगे।

यदि आप बिल्कुल भी सो नहीं पा रहे हैं या अनिद्रा की गंभीर बीमारी है, तो डॉक्टर आपकी मदद करने के लिए कोई भी उपचार प्रदान कर सकते हैं। हालाँकि, याद रखें कि डॉक्टर केवल बहुत गंभीर मामलों में ही ऐसा करते हैं। आमतौर पर, ज्यादातर डॉक्टर गर्भावस्था के दौरान नींद के लिए किसी भी तरह की दवा देना सही नहीं मानते हैं।

प्रेगनेंसी में अच्छी नींद के लिए इस उपाय को अपना सकती है।

यह जरुरी नहीं है की नींद लाने के लिए सिर्फ नींद की गोली या दवाई ही एक रास्ता हो। इसके अलावा भी ऐसे बहुत से नींद लाने के तरिके है। जिन्हे अपना कर चैन की नींद सो सकते है।

नीचे ऐसे ही कुछ अनिद्रा का उपचार दिए गए हैं:

  • कोई किताब पढ़ना
  • योग करना
  • गहरी सांस लेने का अभ्यास करना
  • सोने से पहले हल्के गर्म पानी से नहाना
  • सुरक्षित अरोमाथैरेपी आजमाना
  • गर्भ संस्कार जैसा दिल को सुकून देने वाला संगीत सुनना। इससे आपको अपने शिशु के साथ गहरा रिश्ता बनाने में मदद मिलती है
  • रात को सोने के समय या फिर बीच रात को जब आपकी नींद खुल जाए तो स्मार्टफोन, लेपटॉप या टेबलेट आदि का प्रयोग न करना

यदि आप नौकरी करती हैं, तो शिशु के जन्म से पहले ही मातृत्व अवकाश (मेटरनिटी लीव) ले सकती हैं, करीब 36 सप्ताह के आसपास।
हालांकि, आप शायद अपनी मैटरनिटी लीव शिशु के जन्म के बाद लेना चाहती हों, लेकिन आपको अभी भी घर पर रहने का फायदा मिलेगा। आप जब भी जरुरत हो झपकी ले सकती हैं, और मां बनने के बाद दैनिक दिनचर्या में अचानक आने वाले बदलावों के लिए भी बेहतर ढंग से तैयार हो सकती हैं।

Note : यह इंटरनेट साइट एक सामान्य प्रकृति की जानकारी प्रदान करती है और इसे केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए डिज़ाइन किया गया है। यदि आपको अपने स्वयं के स्वास्थ्य या अपने बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में कोई चिंता है, तो आपको हमेशा एक डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना चाहिए। 

आप हमसे  Facebook, +google, Instagram, twitter, Pinterest और पर भी जुड़ सकते है ताकि आपको नयी पोस्ट की जानकारी आसानी से मिल सके।

read more

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.