Tag - Adhyatmik anmol vachan

हिंदी कहानियां

गृहस्थी की जिम्मेदारी पूरी करो

(जय गुरुदेव ) जब विवेक हो, मोह भ्रम भागे तभी दया होगी। मोह भ्रम जाएगा नहीं, विवेक जागेगा नहीं तो क्या कोई साधना करेगा। किसी को साधु बनाना नहीं। गृहस्थी की जिम्मेदारी पूरी करो। परिवारिक सामाजिक जो भी जिम्मेदारी है उसे निभावो। बहुत...