Suvichar in Hindi : 84 लाख जीवो में एक मनुष्य ही धन कमाता है।

0
323

Suvichar in Hindi : 84 लाख जीवो में एक मनुष्य ही धन कमाता है।
कितना अजीब है ना ♦♦♦♦♦
84 लाख जीवो में एक मनुष्य ही धन कमाता है।
लेकिन कोई जीव भूखा नहीं मरता और आदमी का कभी पेट नहीं भरता।

aaj ka suvichar,suvichar in hindi
Aaj Ka Suvichar

आज इंसान ही इंसान को डंस रहा है
सांप घर के कोने में बैठा हँस रहा है

See : Suvichar in Hindi Wallpaper

Aaj Ka Vichar in Hindi, आज का विचार

THOUGHT OF THE DAY

Suvichar in Hindi

इसकी चिंता छोड़ दे कि
आपने क्या खोया है,
और इस पर ध्यान लगाए की
आप क्या चाहते है।

Leave it worry that
What have you lost,
And focus on this
What do you want


THOUGHT OF THE DAY – 2 Suvichar in Hindi

 फूल कितने भी सूंदर हों
तारीफ खुसबू से होती है
इंसान कितना बड़ा हो
कद्र उसके गुणों से होती है
phool kitne bhee sundar hon
tareef khusbu se hoti hai
insaan kitna bada ho
kadr uske guno  se hoti hai


 Suvichar in Hindi  THOUGHT OF THE DAY – 3

मीठा बोलिये क्योंकि
अल्फाज में भी जान होती है,
इन्ही से दुआ व अज़ान होती है,
ये दिल के समंदर के वो मोती है,
इनसे ही इंसान की पहचान होती है।
meetha boliye kyonki
alphaaj mein bhee jaan hotee hai,
inhee se dua va azaan hotee hai,
ye dil ke samandar ke vo motee hai,
inase hee insaan kee pahachaan hotee hai.


 Suvichar in Hindi, THOUGHT OF THE DAY – 4

मदद करने के लिए केवल
धन की जरुरत नहीं होती
उसके लिए एक अच्छे
मन की जरुरत होती है।
madad karane ke lie keval
dhan kee jarurat nahin hotee
usake lie ek achchhe
man kee jarurat hotee hai.


 Suvichar in Hindi, THOUGHT OF THE DAY – 5

माँ, भले ही पढ़ी
लिखी हो या नहीं
पर संसार का दुर्लभ
और महत्वपूर्ण ज्ञान
हमें माँ से ही मिलता है।
maan, bhale hee padhee
likhee ho ya nahin
par sansaar ka durlabh
aur mahatvapoorn gyaan
hamen maan se hee milata hai.


 Suvichar in Hindi, THOUGHT OF THE DAY – 6

“गलती उसी से होती है
जो मेहनत करता है
निकम्मों की जिंदगी तो
दूसरों की गलती खोजने
में ही खत्म हो जाती है “
galatee usee se hotee hai
jo mehanat karata hai
nikammon kee jindagee to
doosaron kee galatee khojane
mein hee khatm ho jaatee hai


 Suvichar in Hindi, THOUGHT OF THE DAY – 7

“खुश” रहने का सीधा सा
एक ही “मंत्र” है
की “उम्मीद” अपने आप से रखो
किसी और से नहीं।
khush rahane ka seedha sa
ek hee mantr hai
kee ummeed apane aap se rakho
kisee aur se nahin

 Note : अगर आपको हमारे Suvichar in Hindi, Aaj Ka Vichar in Hindi अच्छे लगे तो जरुर हमें Facebook और Whatsapp पर Share कीजिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here