Drik Panchang Jyotish

Surya Grahan 2020 Date, Timings in India : सूतक काल शुरू, जानिए क्या होगा राशियों पर असर

DigitalOcean से क्लाउड होस्टिंग ख़रीदे | Simple, Powerful Cloud Hosting‎

Build faster DigitalOcean पर 2 महीने की मुफ्त होस्टिंग है।. Spin up an SSD cloud server in less than a minute. And enjoy simplified pricing. Click Signup

अब खोलें 100% मुफ़्त* डीमैट और ट्रेडिंग खाता! 0* एएमसी लाइफटाइम के लिए
मुफ्त डीमैट खाते के लिए साइनअप करें
ऑनलाइन अकाउंट खोले  

Surya Grahan June 2020 Date and Time, Timings in India, Bihar, Jharkhand, Delhi, Uttar Pradesh, Surya Grahan Kab Lagega, Padega, Samay or Kab Ka Pad Raha Hai: भारत में आगामी 21 जून 2020 बेहद खास है. इस दिन धरती से लेकर अंतरिक्ष तक में खास इंवेट होने वाला है. वर्ष का सबसे बड़ा दिन इसी दिन है. वहीं, विशेष आकार के साथ सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2020) भी इसी दिन दिखेगा. विज्ञान के साथ-साथ इसकी कई धार्मिक मान्यताएं है. ज्यादातर लोग राशियों पर इसके प्रभाव (surya grahan effect on rashi 2020) को जानना चाह रहे हैं. यही नहीं लोग यह भी जानना चाह रहे कि सोलर इक्लिपस (solar eclipse 2020) उनके लिए कितना हानिकारक (solar eclipse harmful effects) है, क्या है इसके पीछे खगोलीय रहस्य, इस दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं (surya grahan me kya kare kya nahi).

नग्न आंखों से ग्रहण देखने पर आंखों को नुकसान पहुंच सकता है, इसलिए दूरबीन, टेलीस्कोप, ऑप्टिकल कैमरा व्यूफाइंडर से सूर्य ग्रहण को देखना सुरक्षित है.

suryagrahan2020

21 जून को सूर्य ग्रहण का समय

  • 9:15 पूर्वाह्न आंशिक ग्रहण शुरू
  • 10:17 पूर्वाह्न पूर्ण ग्रहण शुरू
  • 12:10 अपराह्न अधिकतम ग्रहण
  • 2:02 बजे पूर्ण ग्रहण समाप्त
  • 3:04 बजे आंशिक ग्रहण समाप्त

21 जून को सूर्य ग्रहण का समय

  • 9:15 पूर्वाह्न आंशिक ग्रहण शुरू
  • 10:17 पूर्वाह्न पूर्ण ग्रहण शुरू
  • 12:10 अपराह्न अधिकतम ग्रहण
  • 2:02 बजे पूर्ण ग्रहण समाप्त
  • 3:04 बजे आंशिक ग्रहण समाप्त

ग्रहण के दौरान महामृत्युंजय मंत्र का करें जाप

ग्रहण के दौरान आप दीपक जलाकर गायत्री मंत्र या महामृत्युंजय मंत्र का जाप करते रहें. ये जाप आपके संकटों को दूर कर देगा.

ग्रहण के दौरान बीज मंत्र का जाप करें

सूर्य ग्रहण के समय किसी भी ईश्वर के बीज मंत्र का जाप करें. इसके साथ चालीसा पढ़ना और भजन कीर्तन करना चाहिए. इस दौरान ध्यान रखें कि भगवान की प्रतिमा को न छूएं.

सूर्यग्रहण के दौरान इन मंत्रों का करें जाप

सूर्य ग्रहण के समय “ऊँ ह्रां ह्रीं ह्रौं स: सूर्याय: नम:” और “ऊँ घृणि: सूर्याय नम:” मंत्र का जाप करते रहें.

पूरी स्टोरी पढ़े…

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

अब खोलें 100% मुफ़्त* डीमैट और ट्रेडिंग खाता! 0* एएमसी लाइफटाइम के लिए
मुफ्त डीमैट खाते के लिए साइनअप करें
ऑनलाइन अकाउंट खोले