Sarkari Yojana 2020

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है – कैसे खुलवाएं SSY खाता?

DigitalOcean® Developer Cloud | Simple, Powerful Cloud Hosting‎

Build faster & scale easier with DigitalOcean solutions that save your team time & money. Spin up an SSD cloud server in less than a minute. And enjoy simplified pricing. Click Signup

Sukanya Samriddhi Yojana  (SSY) बेटियों के लिए केंद्र सरकार की एक Small saving scheme है जिसे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ स्कीम के तहत launch किया गया है. साल 2016 -17 में Sukanya Samriddhi Yojana में 9.1 फीसदी की दर से Interest दिया जा रहा था जो Income Tax छूट के साथ है. इससे पहले इसमें 9.2 फीसदी तक Interest भी मिला है. बहुत कम रकम के साथ खुलने वाला Sukanya सुकन्या समृद्धि योजना खाता दरअसल उन families को ध्यान में रखकर शुरू किया गया है जो छोटी-छोटी Savings के जरिये बच्चे की शादी या Higher education के लिए रकम जमा करना चाहते हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है

Certified Financial Planner दीपाली सेन ने कहा, ‘sukanya samriddhi scheme उन लोगों के लिए बहुत अच्छी yojna है जिनकी income कम है और जो Share Market में पैसे लगाने में भरोसा नहीं करते. Fixed Income के साथ पूंजी की सुरक्षा इस Yojna की खासियत है.’

100% Free Demat Account Online | 100%* Free Share Market Account‎

Open Demat Account in 15 Minutes for Free . Trade in All Markets. Apply. Paperless Process. Invest in Shares, Funds, IPOs, Insurance, Etc. Expert Research & Advice. One Stop Trading Shop. Trade on Mobile & Tablets. Assured Brokerage Bonus. CLICK HERE

कैसे खुलवाएं

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) के तहत Account किसी Girl child के Birth लेने के बाद 10 Year से पहले की Age में कम से कम 250 रुपये के Deposit के साथ खोला जा सकता है. Current financial year में SSY के तहत अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा कराये जा सकते हैं.

सुकन्या समृद्धि खाता कहां खुलेगा

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत एकाउंट किसी post office या Commercial branch की Authorized branch में खोला जा सकता है.

कब तक चलाना होगा

sukanya samriddhi Account खोलने के बाद यह Girl child के 21 Years के होने या 18 Year की Age के बाद उसकी marriage होने तक चलाया जा सकता है.

Sukanya Samriddhi Yojana का उपयोग क्या है

sukanya samriddhi Account से 18 साल की उम्र के बाद बच्चे की Higher education के लिए Expenditure के मामले में 50 फीसदी तक Money amount निकाली जा सकती है.

SSY Account खोलने के Rule क्या है

SSY Account बच्ची के माता-पिता या कानूनी अभिभावक द्वारा Girl child के नाम से उसके 10 साल की उम्र से पहले खोला जा सकता है. इस Rule के मुताबिक एक बच्ची के लिए एक ही खाता खोला जा सकता है और उसमें Money Deposit किया जा सकता है. एक बच्ची के लिए दो Account नहीं खोला जा सकता.

जरूरी Document

SSY Account खोलने के वक्त बच्ची का Birth Certificate Post Office या Bank में देना जरूरी है. इसके साथ ही बच्ची और Guardian के पहचान और proof of address भी देना जरूरी है.

कितनी रकम जरूरी?

एस एस वाई एकाउंट खोलने के लिए 250 रुपये काफी हैं, लेकिन बाद में 100 रुपये के गुणक में पैसे जमा कराये जा सकते हैं. किसी एक वित्त वर्ष में कम से कम 250 रुपये जरूर जमा कराया जाना चाहिए. किसी एक वित्त वर्ष में एस एस वाई खाते में एक बार या कई बार में 1.5 लाख रुपये से अधिक जमा नहीं कराया जा सकता.

एस एस वाई खाते में रकम खाता खोलने के दिन से 15 साल तक जमा कराया जा सकता है. 9 साल की किसी बच्ची के मामले में जब वह 24 साल की हो जाये तब तक रकम जमा कराई जा सकती है. बच्ची के 24 से 30 साल के होने तक जब SSY खाता मैच्योर हो जाये, उसमें जमा रकम पर ब्याज मिलता रहेगा.

एसएसवाई में रकम जमा नहीं हो पाई तब?

किसी Unregulated SSY Account में जहां कम से कम रकम जमा नहीं हुई है, उसे 50 रुपये सालाना की Penalty देकर नियमित कराया जा सकता है. इसके साथ ही हर साल के लिए कम से कम जमा कराई जाने वाली रकम भी SSY account में डालनी पड़ेगी.

अगर Penalty नहीं चुकाई गयी तो सुकन्या समृद्धि खाते में जमा रकम पर post office के Saving account के बराबर Interest मिलेगा जो अभी करीब चार फीसदी है. अगर सुकन्या समृद्धि खाते पर ब्याज ज्यादा चुका दिया गया है तो उसे रिवाइज किया जा सकता है.

सुकन्या समृद्धि खाते में रकम जमा कैसे होगी

सुकन्या समृद्धि खाते  में रकम Cash, Check, Demand Draft या किसी ऐसे इंस्ट्रूमेंट से भी जमा कराई जा सकती है जिसे बैंक स्वीकार करता हो. इसके लिए रकम जमा करने वाले का नाम और Account holder का नाम लिखना जरूरी है.

सुकन्या समृद्धि खाते में रकम Electronic transfer mode से भी की जा सकती है, अगर उस post office या Banks में Core banking system मौजूद है.

अगर सुकन्या समृद्धि खाते में रकम चेक या ड्राफ्ट से चुकाई गयी तो रकम खाते में क्लियर होने के बाद से उस पर ब्याज दिया जायेगा, जबकि E-transfer के मामले में Deposit के दिन से यह गणना की जाएगी.

ब्याज की गणना कैसे होती है

SSY में अकाउंट सिर्फ 250 रुपये से खोला जा सकता है.

सरकार जी सेक यील्ड के हिसाब से हर तिमाही में सुकन्या समृद्धि योजना पर ब्याज दर तय करती है. सुकन्या समृद्धि खाते पर ब्याज दर जी-सेक रेट की तुलनात्मक Maturity की तुलना में 75 Basis point तक अधिक होता है.
इस स्कीम में अब तक दिए गए ब्याज

समय अवधि (वर्ष)दिए गए ब्याज
अप्रैल 1, 2014:9.1%
अप्रैल 1, 2015:9.2%
अप्रैल 1, 2016 -जून 30, 2016:8.6%
जुलाई 1, 2016 -सितम्बर 30, 2016:8.6%
अक्टूबर 1, 2016-दिसम्बर 31, 2016:8.5%
जुलाई 1, 2017-दिसंबर 31, 20178.3%
जनवरी 1, 2018 -मार्च 31, 2018 :8.1%
अप्रैल 1, 2018 – जून 30, 2018 :8.1%
जुलाई 1, 2018 -सितंबर 30, 2018 :8.1%
अक्टूबर 1, 2018 – दिसंबर 31, 2018 :8.5%
जनवरी 1, 2019 – मार्च 31, 2019 :8.5%

Maturity से पहले किन हालात में sukanya samriddhi  Account Close किया जा सकता है?

अगर sukanya samriddhi scheme Account holder की death हो जाये तो Death certificate दिखाकर खाता Close कराया जा सकता है. इसके बाद सुकन्या समृद्धि योजना खाते में जमा रकम बच्ची के अभिभावक को ब्याज सहित वापस दी जा सकती है.

दूसरे मामलों में सुकन्या समृद्धि खाते को खोलने से पांच साल के बाद बंद किया जा सकता है. यह भी कई परिस्थितियों में किया जा सकता है, जैसे जीवन को खतरे वाली बीमारियों के मामले में.

इसके बाद भी अगर किसी दूसरे कारण से सुकन्या समृद्धि खाता बंद किया जा रहा हो तो इसकी इजाजत दी जा सकती है, लेकिन उस पर ब्याज Saving account के हिसाब से मिलेगा.

Account Transfer

SSY देशभर में कहीं भी Transfer हो सकता है, अगर Account holder सुकन्या समृद्धि खाता खोलने की मूल जगह से कहीं और शिफ्ट हो गया हो. SSY account transfer free of cost है, हालांकि इसके लिए एकाउंट होल्डर या उसके माता-पिता/अभिभावक के शिफ्ट होने का सबूत दिखाना पड़ेगा.

अगर इस तरह का कोई सबूत नहीं दिखाया गया तो Sukanya Samriddhi Account Transfer के लिए post office या बैंक को 100 रुपये फीस चुकाना पड़ेगा जहां Sukanya Samriddhi Account खोला गया है.

जिस बैंक या post office में कोर Banking system की सुविधा है, वहां सुकन्या समृद्धि अकाउंट ट्रांसफर इलेक्टॉनिक तरीके से हो सकता है.

रकम निकासी

अकाउंट होल्डर की वित्तीय जरूरतें पूरी करने के लिए sukanya account से आंशिक निकासी की जा सकती है, इनमें उच्च शिक्षा और शादी जैसे काम शामिल हैं. इसमें सुकन्या समृद्धि में पिछले वित्त वर्ष के अंत तक जमा रकम का 50 फीसदी निकाला जा सकता है. सुकन्या समृद्धि से यह निकासी तभी संभव है, जब एकाउंट होल्डर 18 साल की उम्र पार कर ले.

sukanya  account से रकम निकालने के लिए एक Written application और किसी Educational institution में Admission offer या Fee slip की जरूरत होती है. इन मामलों में हालांकि SSY से निकासी करने वाली रकम फी और दूसरे चार्ज के बराबर ही हो सकती है उससे अधिक नहीं.

SSY Account Matures कब होगा?

SSY खाता खोलने के दिन से 21 साल पूरा होने या गर्ल चाइल्ड की शादी होने के बाद Account Mature हो जायेगा.

शर्तें

अगर खाताधारक की शादी खाता खोलने के 21 साल पूरे होने से पहले हो जाती है तो खाते में रकम जमा नहीं कराई जा सकती.

  • अगर खाता 21 साल पूरा होने से पहले बंद कराया जा रहा है तो खाताधारक को यह Affidavit देना पड़ेगा कि Account Closed करने के समय उसकी उम्र 18 साल से कम नहीं है. मैच्योरिटी के समय Passbook और Withdrawal slip पेश करने पर खाताधारक को ब्याज सहित जमा रकम वापस हो जाएगी.
  • sbi sukanya yojana के तहत खाता सिर्फ भारतीय नागरिक का खोला जा सकता है, जो यहीं रह रहा हो और मैच्योरिटी के वक्त भी यहीं रह रहा हो. अप्रवासी भारतीय SSY में खाता नहीं खोल सकते.अगर खाता खोलने के बाद गर्ल चाइल्ड किसी और देश में चली जाती है और वहां की नागरिकता ले लेती है तो नागरिकता लेने के दिन से  sukanya खाते में जमा रकम पर ब्याज मिलना बंद हो जायेगा.

कैलकुलेटर

Source: यह सूचना वित्त मंत्रालय और Reserve Bankकी  Website से जुटाई गयी है. पाठकों को समझने के लिए इसे आसान भाषा में पेश किया गया है.

Disclamer:

पूरी जानकारी के लिए आप  sukanya samriddhi scheme in hindi बनाने वाली अथॉरिटी से बात कर सकते हैं. SSYकी जानकारी मौजूद नियमों के हिसाब से है, इसमें किसी बदलाव के लिए हमारी जिम्मेदारी नहीं है.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.