नेताजी सुभाष चंद्र बोस हिंदी निबंध : Netaji Subhash Chandra Bose Essay in Hindi

 नेताजी सुभाष चंद्र बोस हिंदी निबंध :  अंग्रेज साम्राज्यवाद के विरुद्ध सशक्त रूप से बगावत बुलंद करने वाले तथा तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा। नारे की गर्जना करने वाले सुभाष चंद्र बोस का जन्म 3 फरवरी 1897 ई० को उड़ीसा में हुआ था।
Netaji Subhash Chandra Bose

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की शिक्षा  (Subhash Chandra Bose)

उनके पिता रायबहादुर जानकीदास वकील थे। नेताजी की प्रारंभिक शिक्षा दीक्षा ओडिशा के कटक में हुई थी। इसके बाद में बीए की परीक्षा पास कर के आई० सी० की परीक्षा के लिए इंग्लैंड चले गए। वहां से लौट कर एक सरकारी नौकरी में अधिकारी पद पर नियुक्त हुए। बाद में उन्होंने नौकरी छोड़ कर देश सेवा का व्रत लिया और बंगाल के प्रसिद्ध देशभक्त चितरंजन दास के बताएं, देश सेवा के मार्ग पर चल पड़े। कांग्रेस पार्टी में सम्मिलित हुए उन दिनों कांग्रेस में गर्म और नगर दोनों प्रकार के दल हुआ करते थे। नेताजी गरम दल के नेता थे, फिर भी वह गांधी जी का सम्मान करते थे। पर उन्होंने बाद में गांधीजी के विचारों में मतभेद के कारण कांग्रेस पार्टी छोड़ दी।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस के महत्वपूर्ण कार्य

azad hind fauj सन 1942 में वह जापान गए उन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिए आजाद हिंद फौज का गठन किया। साधनों की कमी के होने के बावजूद ब्रिटिश फौज से लोहा लिया। लेकिन जीत नहीं मिल पाई।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस का निधन

२३ अगस्त 1945 को टोकियो रेडियो ने एक समाचार प्रकाशित किया कि सुभाष चंद्र एक विमान दुर्घटना में मारे गए। परंतु लोगों को इस पर विश्वास नहीं हुआ। परिणामत: इनकी मृत्यु आज भी रहस्य बनी हुई है। आज भी ‘जय हिंद का नारा’ तथा ‘कदम कदम बढ़ाए’ जा गीत सभी भारतवासियों के कानों में गूंज रहे हैं। नेताजी सुभाष चंद्र बोस आज भी हमारे देश के नौजवानों के प्रेरणा स्रोत हैं। उनकी आजाद हिंद फौज के सैनिकों को देश की आजादी के बाद स्वतंत्रता सेनानी होने का गौरव भारत सरकार ने दिया।

  1. मोबाइल फोन के महत्व पर निबंध Mobile phone advantages and disadvantages essay
  2. कॉम्पुटर आज की आवश्यकता निबंध | Essay on Computer in hindi
  3. इंटरनेट की उपयोगिता पर निबंध internet essay in hindi language
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.