[सोलर एनर्जी] सौर ऊर्जा क्या है? – What is solar power in hindi

सौर ऊर्जा [Solar Energy] सूर्य द्वारा उत्सर्जित ऊर्जा है जो सौर विकिरण के रूप में पृथ्वी तक पहुंचती है। इस विकिरण को पकड़ा जा सकता है और सोलर एनर्जी को अन्य रूपों में परिवर्तित किया जा सकता है: जैसे –

विद्युत – Electrical 

यांत्रिक – Mechanical 

थर्मल – Thermal

सोलर एनर्जी का उपयोग करने के  लिए आपको बहुत पैसा खर्च करना पड़ता है लेकिन जैसे-जैसे प्रौद्योगिकी विकसित होती है कि सौर ऊर्जा का अधिक से अधिक सोलर एनर्जी का प्रयोग किया जाएगा और कीमत घट जाएगी।

सूर्य ऊर्जा [Solar Energy] सूर्य की ऊर्जा का उपयोग या तो सीधे थर्मल ऊर्जा (गर्मी) के रूप में या बिजली उत्पन्न करने के लिए सौर पैनलों और पारदर्शी फोटोवोल्टिक ग्लास में फोटोवोल्टिक कोशिकाओं के उपयोग के माध्यम से होता है। सौर ऊर्जा सूर्य की रोशनी से ऊर्जा में रूपांतरण है, या तो सीधे फोटोवोल्टिक का उपयोग करते हुए, अप्रत्यक्ष रूप से केंद्रित सौर ऊर्जा का उपयोग करके, या एक संयोजन। एक छोटे बीम में सूर्य के प्रकाश के एक बड़े क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करने के लिए केंद्रित सोलर एनर्जी प्रणाली लेंस या दर्पण और ट्रैकिंग सिस्टम का उपयोग करती हैं।

सौर ऊर्जा के फायदे और नुकसान: [Solar Energy advantages and disadvantages]

सोलर एनर्जी के लाभ -(Saur urja benefits in india)

1. सौर ऊर्जा प्रदूषण मुक्त है और स्थापना के बाद कोई ग्रीनहाउस गैसों का उत्सर्जन नहीं करती है

2. विदेशी तेल और जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता में कमी

3. अक्षय स्वच्छ शक्ति जो वर्ष के हर दिन उपलब्ध होती है, यहां तक ​​कि बादल दिन भी कुछ बिजली का उत्पादन करते हैं

4. उपयोगिता बिलों के भुगतान के विपरीत निवेश पर लौटें

5. वस्तुतः 30 वर्षों से अधिक सौर पैनलों के रूप में कोई रखरखाव नहीं है

6. सोलर पैनल निर्माता, सोलर इंस्टालर इत्यादि को रोजगार देकर रोजगार बनाता है और बदले में अर्थव्यवस्था को मदद करता है

7. अगर ग्रिड इंटरटी हो तो अतिरिक्त बिजली को बिजली कंपनी को वापस बेचा जा सकता है।

सौर ऊर्जा के नुकसान – (Solar power disadvantages)

1. सामग्री और स्थापना और लंबे आरओआई के लिए उच्च प्रारंभिक लागत

2. दक्षता के रूप में 100% अभी तक बहुत सारे स्थान की आवश्यकता नहीं है

3. रात में कोई सौर ऊर्जा नहीं होती है, इसलिए एक बड़े बैटरी बैंक की आवश्यकता है

4. डीसी पावर (DC Power) पर सीधे चलने वाले उपकरण अधिक महंगे हैं

5. भौगोलिक स्थिति के आधार पर सौर पैनलों (Solar Panels) का आकार समान विद्युत उत्पादन के लिए भिन्न होता है

6. बादल वाले दिन ज्यादा ऊर्जा नहीं देते हैं

सौर ऊर्जा (Solar Power) वह शक्ति है जो सूर्य की किरणों की ऊर्जा का दोहन करके प्राप्त की जाती है। यह न केवल टिकाऊ है, यह अक्षय है और इसका मतलब है कि हम इससे बाहर कभी नहीं निकलेंगे।

सौर ऊर्जा की विशेषताएं: Features of Solar power in hindi

  • प्रचुर
  • सुरक्षित
  • उम्मीद के मुताबिक
  • सस्ती
  • स्वच्छ

यदि आप सूर्य किरण (Sun Light) से बिजली उत्पन्न करते हैं तो यह एक सोलर एनर्जी  है। आप इसे बाद में उपयोग के लिए डीसी बैटरी (DC Battery) में स्टोर कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने एसी (AC) संचालित घरेलू उपकरणों के लिए डीसी को एसी में बदलने के लिए इन्वर्टर का उपयोग कर सकते हैं। यह नवीकरणीय ऊर्जा और ईसीओ-अनुकूल है। आप अपने घर पर सोलर एनर्जी उत्पादन स्थापित कर सकते हैं।

सोलर उत्पादित  वस्तुएँ  (Saur urja equipment in hindi)-:

Solar Energy  द्वारा  तथा  इसमें  सहायक  वस्तुओं  व  उपकरणों  का  निर्माण  किया  गया  हैं,  जिसमे  से  कुछ  निम्नानुसार  हैं -:

  • सोलर पेनल,
  • ब्रेनी इको  सोलर  होम UPS 1100,
  • सोलर DC सिस्टम  120,
  • सोलर पावर  कंडिशनिंग  यूनिट,
  • PV ग्रिड  कनेक्टेड  इन्वर्टर्स,

सोलर चार्ज  कंट्रोलर -: Solar charge Controller

    • PWM टेक्नॉलोजी,
    • MPPT टेक्नॉलोजी
    • सोलर कन्वर्जन  किट,
    • सोलर शाइन  वेव  इन्वर्टर,
    • सोलर बैटरी,
    • सोलर होम  लाइटिंग  सिस्टम -:
      • स्पार्कल ,
      • सनग्लो
      • सोलर स्ट्रीट लाइटिंग  सिस्टम,  आदि.

इस  प्रकार  सोलर एनर्जी हमारे  देश  में  विकसित  रूप  ग्रहण  कर  चुकी  हैं  और  हम  इससे  होने  वाले  फायदों  से  लाभान्वित  हो  रहे  हैं.

Solar Related Post :

  • सूर्य ऊर्जा कैसे काम करती है?
  • सूर्य सेल कैसे काम करते हैं?
  • पूरी दुनिया सौर ऊर्जा का उपयोग क्यों नहीं करती है?
  • नवीनतम सौर ऊर्जा प्रौद्योगिकियां क्या हैं?

[content-egg module=Amazon template=list]