Technology

सौर ऊर्जा कैसे काम करती है – How does solar power work in hindi

सौर ऊर्जा कैसे काम करती है – How does solar power work in hindi – Solar Energy सूर्य की ऊर्जा को कैप्चर करके और इसे आपके घर या व्यवसाय के लिए बिजली (Electricity) में बदलकर काम करती है। हमारा सूर्य एक प्राकृतिक परमाणु रिएक्टर है। यह फोटॉन नामक ऊर्जा के छोटे पैकेट जारी करता है, जो सूर्य से पृथ्वी तक लगभग 8.5 मिनट में 93 मिलियन मील की यात्रा करते हैं। हर घंटे, पर्याप्त फोटॉन हमारे ग्रह को मिलते रहते है। एक पूरे वर्ष के लिए वैश्विक ऊर्जा की जरूरतों को सैद्धांतिक रूप से संतुष्ट करने के लिए पर्याप्त सौर ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए काफी हैं।

वर्तमान में संयुक्त राज्य अमेरिका में खपत होने वाली ऊर्जा के एक प्रतिशत के केवल पांच-दसवें हिस्से के लिए फोटोवोल्टिक बिजली बनाते हैं। लेकिन सौर प्रौद्योगिकी में सुधार हो रहा है और सोलर पैनल की लागत (solar Panel Price) तेजी से गिर रही है, इसलिए सोलर एनर्जी की प्रचुरता को प्राप्त करने की हमारी क्षमता बढ़ रही है।

इंटरनेशनल एनर्जी एजेंसी की 2017 की रिपोर्ट बताती है कि सौर ऊर्जा का दुनिया का सबसे तेजी से विकास करने वाला स्रोत बन गया है – पहली बार सौर ऊर्जा के विकास ने अन्य सभी ईंधनों में कमी आयी है। आने वाले वर्षों में, हम सभी एक या दूसरे तरीके से सौर ऊर्जा से बिजली का लाभ उठा रहे होंगे।

सौर ऊर्जा कैसे काम करता है? – How Does Solar Panels Work?

सौर पैनल कैसे काम करता है? - How Does Solar Panels Work?

सौर ऊर्जा सिस्टम

जब फोटोन एक सौर सेल से टकराते हैं, तो वे इलेक्ट्रॉनों को अपने परमाणुओं से ढीला कर देते हैं। यदि कंडक्टर सेल के सकारात्मक और नकारात्मक पक्षों से जुड़े होते हैं, तो यह एक विद्युत सर्किट बनाता है। जब इलेक्ट्रॉन इस तरह के सर्किट से बहते हैं, तो वे बिजली उत्पन्न करते हैं। कई सेल एक सौर पैनल बनाते हैं, और एक सौर सरणी बनाने के लिए कई पैनल (Module) एक साथ वायर्ड किए जा सकते हैं। जितने अधिक पैनल आप तैनात कर सकते हैं, उतनी अधिक ऊर्जा आप उत्पन्न करने की उम्मीद कर सकते हैं।

सौर पैनल बिजली कैसे उत्पन्न करते हैं? –How Do Solar Panels Generate Electricity 

पीवी सौर पैनल प्रत्यक्ष करंट (DC) बिजली उत्पन्न करते हैं। डीसी बिजली के साथ, इलेक्ट्रॉन एक सर्किट के चारों ओर एक दिशा में बहते हैं। यह उदाहरण एक बैटरी को एक प्रकाश बल्ब को दिखाता है। इलेक्ट्रॉनों को बैटरी के नेगेटिव पॉइंट से, लैंप के माध्यम से ट्रांसफर किया जाता है, और बैटरी के पॉजिटिव पॉइंट पर लौटता है।

एसी (Alternate Current) बिजली के साथ, इलेक्ट्रॉनों को धक्का दिया जाता है और खींचा जाता है, समय-समय पर उलट दिशा, एक कार के इंजन के सिलेंडर की तरह। जब एसी का तार चुंबक के बगल में घूमता है तो जनरेटर एसी बिजली बनाता है। कई अलग-अलग ऊर्जा स्रोत इस जनरेटर के “हैंडल को चालू कर सकते हैं”, जैसे गैस या डीजल ईंधन, पनबिजली, परमाणु, कोयला, पवन, या सौर।

एसी बिजली को अमेरिकी विद्युत ग्रिड के लिए चुना गया था, मुख्यतः क्योंकि यह लंबी दूरी पर संचारित करने के लिए कम खर्चीला है। हालांकि, सौर पैनल डीसी बिजली बनाते हैं। हम एसी ग्रिड में डीसी बिजली कैसे प्राप्त करते हैं? इसके लिए हम एक इन्वर्टर का उपयोग करते हैं।

यहां बताया गया है कि सौर ऊर्जा कैसे काम करती है

  • फोटोवोल्टिक (पीवी) कोशिकाएं सूर्य की रोशनी को डायरेक्ट करंट (डीसी) बिजली में बदल देती हैं।
  • इन्वर्टर डीसी को प्रत्यावर्ती धारा (AC) बिजली में परिवर्तित करता है।
  • विद्युत पैनल आपकी रोशनी और उपकरणों को शक्ति भेजता है।
  • यूटिलिटी मीटर आपके द्वारा खींची गई ऊर्जा को मापता है और ग्रिड को वापस फीड करता है।

अपने सौर ऊर्जा प्रणाली (Solar power system in hindi) को बेहतर कैसे बनाये ?

  • प्रति यूनिट क्षेत्र में उच्च उत्पादन क्षमता के लिए अत्यधिक कुशल सौर पैनल खरीदें।
  • अपने सौर ऊर्जा प्रणाली को किसी भी छाया डाली से दूर रखें।
  • सौर पैनल के कोण का अनुकूलन करें ताकि यह दिन के दौरान अधिकतम समय के लिए सीधे सूर्य की किरणों के लंबवत हो।
  • संवहन के माध्यम से गर्मी लंपटता के लिए पैनलों के बीच और नीचे एयरफ्लो के लिए खाली जगह रखे।
  • अपने भंडारण और नियंत्रक के करीब सौर ऊर्जा प्रणाली (Solar power system) स्थापित करें। वोल्टेज ड्रॉप से बचने के लिए मोटे व्यास वाले अत्यधिक शुद्ध तांबे के तारों का उपयोग करें।
  • कांच के नीचे की कोशिकाओं तक अधिक धूप पहुंचने के लिए अपने सौर पैनलों को साफ रखें।

Solar Mobile Charger price online

Rs. 3,600
Rs. 6,000
in stock
7 new from Rs. 3,500
Amazon.in
Rs. 1,895
Rs. 2,395
in stock
6 new from Rs. 1,816
Amazon.in
Free shipping
Rs. 264
Rs. 999
in stock
26 new from Rs. 215
Amazon.in
Free shipping
Last updated on 17/09/2019 2:25 PM

Read More : [1]

आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करे यदि आप अधिक जानना चाहते हैं। आशा करता हूँ की ये काम करेगा!

Leave a Comment

Add Comment