Herbs

शिलाजीत का सेवन करते समय ध्‍यान रखें ये बातें – Shilajit Dosage in hindi

शिलाजीत एक प्राचीन हर्बल है जिसमें 85 खनिज और तत्व होते है जो मानव शरीर को बेहतर बनाने के लिए जरुरी होते है. शिलाजीत में फुलविक एसिड होता है जो शरीर को खनिजों और तत्वों को सोखने की शक्ति प्रदान करता है. यह एशिया में हजारों सालों से लिया जाता है क्योंकि इसके कई स्वास्थ्य लाभ होते है. Keep these things in mind when consuming Shilajit

शिलाजीत कैसे बनता है

भारत और तिब्बत के पहाड़ी क्षेत्रों में कई लाखों वर्षों से पौधों और ऑर्गेनिक पदार्थ चट्टान की परतों में फंस गए थे. पहाड़ों के वजनृ दबाव और अत्यधिक तापमान की वजह से पौधों में जो परिवर्तन हुआ वो एक ऐसी समृद्ध खनिज के रूप में चट्टानों से बाहर निकला जिसको आज हम शिलाजीत कहते है.

शिलाजीत का सेवन कैसे करे

शिलाजीत की खुराक कभी-कभी जिसे हम एक चुटकी खनिज पदार्थ भी कहते है, के बारे में सही दिशा-निर्देशों से ही आपको अधिक लाभ मिलता है. शिलाजीत के अलग-अलग ग्रेड होते है. सही ग्रेड की जानकारी होना आवश्य्क है.

शिलाजीत लेने से पहले उसकी असली और नकली की पहचान होना जरुरी है. बाजार में पाउडर रूपों को सबसे अधिक प्रभावशाली बनाने के लिए सस्ते फिलर्स से और फुलविक एसिड से नकली शिलाजीत बनाया जाता है जो अच्छे असर के बदले उल्टा असर कर देता है.

शिलाजीत को लेकर हर एक व्यक्ति की अलग राय, अलग अहसास, अलग असर आदि होता है. शिलाजीत के उपयोग के साथ-साथ अच्छी आदतों जैसे व्यायाम, और अच्छी डाइट भी लेनी लेनी होती है.

शिलाजीत को सही तरीके से लेने से ही इसका प्रभाव सही होता है. शुरुआत में आप दिन में एक बार लगभग 100 मिलीग्राम ले. उसके बाद धीरे – धीरे खुराक बढ़ा दें. जैसे 100 मिलीग्राम दिन में 2 बार और फिर दिन में 3 बार. इसकी खुराक तब तक लेते रहे जब तक आपको मनचाहे असर न दिखाई देने लगे.

शिलाजीत के लेने से पहले वो बातें जो ध्यान में रखकर आपकी खुराक निश्चित की जाएगी. शरीर का आकार– बॉडी मास इंडेक्स — सामान्य स्वास्थ्य– मेटाबोलिज्म — खाद्य और अन्य जीवन शैली — होने वाले फायदे– आपका व्यक्तिगत मॉलिक्यूलर कैमिस्ट्–

शिलाजीत लेना शुरू करने के बाद आपके शरीर में नए अनुभव के साथ -साथ आपको कुछ मुश्किलें भी हो सकती है जैसे नींद ना आना या खाना ना पचने की असुविधा आदि.

ये मुश्किलें आम तौर पर थोड़े ही समय के लिए होती है और इसका मतलब होता है की आप कुछ और दिनों के लिए अपनी खुराक छोड़ें. अगर आप किसी भी ऐसी परेशानी का सामना करते है जो ज्यादा गंभीर है तो आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए.

शिलाजीत को खाने को लेकर अलग -अलग विचार है. आयुर्वेद चिकित्सकों के अनुसार, शिलाजीत का प्रभाव बढ़ाने के लिए इसको नीचे लिखे किसी भी एक पदार्थ के साथ मिक्स करके लेना चाहिए. –गर्म दूध — घी (मक्खन)—- कच्चा शहद—- नारियल का तेल—- हर्बल चाय—- झरने के पानी

SHILAJIT CAPSULE PRICE ONLINE

[content-egg module=Amazon template=list]

Add Comment

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.