Breaking News
Home / घरेलु नुस्खे / ल्यूकोरिया / safed pani ka ilaj, leucorrhoea सफेद पानी का रामबाण इलाज/ सफेद पानी की दवा

safed pani ka ilaj, leucorrhoea सफेद पानी का रामबाण इलाज/ सफेद पानी की दवा

safed pani ka ilaj, leucorrhoea सफेद पानी का रामबाण इलाज/ सफेद पानी की दवा : योनी मार्ग से सफेद पानी का निकलना श्वेत प्रदर या leucorrhoea कहलाता है। योनि मार्ग से सफ़ेद पानी निकलना स्वाभविक प्रक्रिया है। इसको हमेशा रोग नहीं समझना चाहिए। यह कुछ मामलो में योनि से सफ़ेद पानी निकलता है जैसे :

#लडकी का सफेद पानी- leucorrhoea

  • कामोच्छा होने पर, गर्भवस्था में, माहवारी होने से पहले।
  • यदि योनि से सफ़ेद रंग का गंध रहित द्रव निकले तो वह कोई रोग नहीं होता है।
  • लेकिन यदि योनि से सफ़ेद रंग का गाढ़ा बदबूदार पदार्थ निकले तो यह रोग की निशानी है।
  • इसका इलाज जल्द से जल्द करवाना चाहिए।

#leucorrhoea – सफ़ेद पानी या स्वेत प्रदर में

safed pani ka ilaj – सफ़ेद पानी या स्वेत प्रदर में शरिर मे कमजोरी आती है, चक्कर आता है, बदन में दर्द होता है। चेहरे की रौनक ख़त्म सी हो जाती है। सफ़ेद पानी जिसको श्वेत प्रदर भी कहा जाता है, महिलाओं का कष्ट दायक रोग है, जिसमे महिलाओं की योनी से सफ़ेद तरल पदार्थ निकलता है, और बहुत गन्दी बदबू आती है, इस रोग से ग्रसित रोगिणी उदास और चिडचिडी रहती है। यदि आपको भी यह समस्या है तो, आपको निराश होने की जरुरत नहीं है यहाँ आपको कुछ सरल सफ़ेद पानी के रामबाण घरेलु नुस्खे बताने जा रहे है। जिनको आप नियमित रूप से करके लाभ ले सकते है।

READ ALSO : गोरापन और सुंदरता कैसे पाए -गोरी त्वचा पाने के जबरदस्त उपाय

safed pani ka ilaj : leucorrhoea/सफेद पानी का रामबाण इलाज/ सफेद पानी की दवा

#हरी मेथी – Green fenugreek

Green fenugreek, हरी मेथी,सफेद पानी की दवा
Green fenugreek
  • हरी मेथी के 250 ग्राम पत्ते पानी से अच्छे तरह धोकर एक लीटर पानी में उबाल ले। अब पानी छानकर हल्का सा गर्म रहने पर डूश लगायें। यानी रुई या सूती कपडा इस पानी से भिगोकर अपनी योनि (वैजाइना) में रखे। यदि हरी मेथी न मिले तो।

#मेथी दाना – Fenugreek seeds, सफेद पानी की दवा

  • पांच चम्मच मेथी दाना एक किलो पानी में उबालकर, छानकर, उसमे एक चौथाई चम्मच हल्दी मिलाकर डूश देने से प्रदर बंद होता है।
  • रात को सोते समय चार चम्मच पीसी मेथी दाना सफ़ेद और साफ़ भीगे हुए पतले कपडे में बांधकर पोटली बनाकर योनी के अन्दर रखकर सोयें।
  • पोटली को साफ़ एवम मज़बूत लम्बे धागे से बांधकर धागा बाहर निकलता हुआ रखें, जिससे पोटली सरलता से बाहर निकाली जा सके।
  • चार घंटे बाद या जब भी किसी तरह का कष्ट हो, पोटली बाहर निकाल लें.
  • जब तक श्वेत प्रदर ठीक ना हो यह प्रयोग करते रहें। इससे श्वेत प्रदर ठीक हो जाता है।

5 चम्मच मेथी दाना को कूट ले और एक गिलास पानी में चार घंटे भिगोकर, पानी छानकर योनी को धोएं।

#सफेद पानी की दवा, मेथी के लडडू

  • सफेद पानी की दवा : मेथी पाक या मेथी लड्डू खाने से श्वेत प्रदर से छुटकारा मिल जाता है, शरीर हृष्ट पुष्ट बना रहता है, तथा गर्भाशय की गंदगी बाहर निकालने में सहायता मिलती है।
  • गर्भाशय कमज़ोर होने पर योनी से पानी की तरह पतला स्त्राव होता है।
  • गुड 1 चम्मच व् मेथी का चूर्ण 1 चम्मच मिलाकर कुछ दिन तक खाएं।
  • इससे श्वेत प्रदर (सफ़ेद पानी) आना बंद हो जाता है। मेथी के फायदे और नुकसान

READ ALSO : बिस्तर में ऐसा कमाल की आपकी पार्टनर बोल उठेगी, अब बस भी करो ना !

पीरियड्स के सभी प्रकार के कष्टों को खत्म करने के लिए मेथी सर्वोत्तम औषधि है। आप मेथी को किसी भी रूप में सेवन कर सकती है। मेथी की सब्जी खाए या मेथी चूर्ण की फंकी लीजिये।

  • इस जानकारी को शेयर जरुर कीजिये। ताकि किसी और के काम आ सके और हमारे फेसबुक पेज को लाइक जरूर करे।
    leucorrhoea का इलाज, ल्यूकोरिया का घरेलू इलाज, सफेद पानी का रामबाण इलाज, सफेद पानी का घरेलू उपाय,
    रक्त प्रदर, ल्यूकोरिया का इलाज, ल्यूकोरिया की दवा, लिकोरिया का आयुर्वेदिक इलाज,सफ़ेद पानी का इलाज इन हिंदी
    सफेद पानी का रामबाण इलाज, लिकोरिया का आयुर्वेदिक इलाज, श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज, सफेद पानी का आना
    लिकोरिया का इलाज, safed pani ka ilaj.

safed pani ka ilaj, leucorrhoea सफेद पानी का रामबाण इलाज/ सफेद पानी की दवा:  पोस्ट आपको कैसी लगी निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमें बताएं, और अगर कोई सवाल पूछना हो या सुझाव देना हो तो आप अपना मेसेज निचे लिख दें . अगर आपको पोस्ट अच्छे लगी हो तो इसे शेयर और करना न भूले।

आप हमसे  Facebook, +google, Instagram, twitter, Pinterest और पर भी जुड़ सकते है ताकि आपको नयी पोस्ट की जानकारी आसानी से मिल सके। हमारे Youtube channel को Subscribe जरूर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *