On page SEO क्या होता है?

On page SEO क्या होता है? Hindi

SEO या Search Engine Optimization एक ऐसा तकनीक है, जिससे हम अपने पेज को सर्च इंजन मं टॉप में लाते है। On-Page SEO Basically Website के अंदर के Particular Web_page को Optimize करने की Process है। जिससे हम अपनी Website पर Relevant Traffic Drive कर सकते है।

-On-Page SEO से Website के किसी Particular Web Page को Optimize भी कर सकते है।

-इसमें Different Type के SEO Include है। अकेला On-Page SEO Web Page को Rank कराने के लिए Enough नहीं है।

-यदि आप Search Engines में High Ranking और अपने Content को लोगों तक पहुँचाना चाहते है,

-तो आपको Search Engine और Users के लिए अपनी website को More Attractive बनाना होगा

-On-Page SEO में हम Generally Content और HTML के Source Code को Optimize करते है,

-जबकि Off-Page SEO में External Optimization किया जाता है,

-जैसे कि Site के लिए Backlinks Create करना, Directory Submission or Audio Submission आदि Off-Page SEO में आता है।

-On-Page SEO में Beginner लोगों को हम SEO के Ranking Factors Read करने की सलाह देते है।

-Time to time On-Page SEO बदल रहा है इसलिए हर Blogger और SEO Expert को On-Page SEO से Update रहना चाहिए।

On page SEO क्या है? (What is On Page SEO in Hindi)

अपनी Site पर किसी भी New Blog Post को Publish करने से पहले और अपने Old Content को Optimize & उसकी Process जानने के लिए आगे दी गई Checklist को Use कर सकते है:-

 

1. Keyword Research.

On-Page SEO की शुरुआत Basically अपने Content के लिए Best Keywords Find करने से होती है:-

-आपके Main Content or Theme से Related:- Main Keyword आपके Content or Description से Related होना चाहिए।

-Target Audience:- Volume Searches define करती है कि आपके Content पर कितना Traffic Drive होने वाला है।

-Site Power:- आप जिस भी Particular Keyword पर Post Write करने वाले है उस Keyword पर Already Rank करने वाली Websites से आपकी Site की Authority ज्यादा होनी चाहिए ताकि आपकी Site उन्हें टक्कर दे पाए।

2. अपने Content के लिए एक Primary Keyword चुनें।

जब आप एक बार अपना Keyword चुन लें तो उसे अपनी Particular Post पर Assign करें।

New Content के लिए editorial calendar Create करें और प्रत्येक Post के लिए Different different Keywords Assign करें।

3. Make Sure की आपका Primary keyword आपकी ही किसी अलग post में Use ना किया गया हो।

-यदि आप एक से अधिक Pages के लिए same Keywords Assign करते है तो यह Keyword cannibalization issues create कर सकता है।

-जिससे Search Engine यह समझ नहीं पाता की आपका कौनसा Content Duplicate है और कौनसा Unique है।

-In the End, दोनों Pages को ही Search Engine में Rank करने के लिए Problem Face करनी पड़ती है।

-So इस तरह के Content को Check करने के लिए आप Duplicate Content Checker Tool का Use कर सकते है।

4. अपने Primary Keyword से Related या Relevant 4 से 5 Keywords Choose करें।

-Related या Relevant उन synonyms or semantically Phrases को बोला जाता है जो हमारे Primary Keyword से मिलते-जुलते है।

-इन्हें LSI [Latent Semantic Indexing] keywords भी बोला जाता है। अपने Primary Keyword से Relevant 3 से 5 Keywords Article में जरूर Add करें।

5. अपने Keyword के लिए Content बनाएं। (On Page SEO Techniques in Hindi)

-एक बार जब आपके पास आपका Primary Keyword हो, उसके बाद Content Plan Create करें कि आपको उस Keyword को कैसे Use करना है।

-Decide करें कि क्या Keyword एक Timely blog post, Evergreen Content या एक Landing Page से Related होना चाहिए।

-Decide करें कि Content कि Length कितनी होनी चाहिए और आप उसका Marketing Promotion कैसे करने वाले है।

इसी के अंदर कुछ Points आते है जो इस प्रकार है:-

-Users की Intent को Fulfil करे:- ऐसा Content Create करें जो Users की Requirement को Fulfil करे यानी कि जो भी query User Search Engine पर Type करें, उसे पूरा करे।

Decide करें कि Content आपकी Sales Funnel में कहाँ फिट बैठता है:-

-customer journey mapping template का Use करें और एक specific purchase funnel में Fit होने वाला Content Create करें

Present में rank कर रहे Content से Better Content Create करें:-

-Present में अपने Keywords के लिए Rank करने वाले Content का Analysis करें। ऐसा Content Create करने का प्रयास करें जो More Valuable हो, Better Organized हो, जिसमें Original Data Include हो, इत्यादि।

6. ऐसा Title लिखें जिसमें Primary Keyword Include हों।

-ऐसा Title Create करें जो Search Engine और Audience दोनों के लिए Helpful हो।

-Title की शुरुआत में Primary Keyword add करके Search Engine के Rules को Follow करें।

-और एक descriptive Title Create करके Audience की Help करें और Meta Description की Help से Audience को बताएं कि उन्हें यह Article क्यों पढ़ना चाहिए।

7. इसके आलावा भी काफी On-Page SEO Ranking Factors है जो आपको जरुरु जानने चाहिए:-

  1. H1 tag
  2. Use 300 Words इन Paragraph
  3. Original Content
  4. High-Quality Content
  5. Primary Keyword 2-3% [Keyword Density]
  6. Scannable Content
  7. Subheadings H2, H3 or H4.
  8. Primary Keyword in 1st & Last Paragraph
  9. Add Relevant Internal Links
  10. Add High Authority Relevant External Link.

इसके आलावा भी और On-Page SEO Ranking Factors है

उम्मीद करता हूँ जी आपको मेरे इस On page SEO Kya Hota Hai? से On-Page SEO को जानने की Help मिली होगी।

Google Analytics kya hai hindi tutorial
How to Choose the Best WordPress Hosting
VPA क्‍या है और UPI कैसे काम करता है?

आप हमसे  Facebook, +google, Instagram, twitter, Pinterest और पर भी जुड़ सकते है ताकि आपको नयी पोस्ट की जानकारी आसानी से मिल सके। comment करके आप अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे।

loading...

2 comments

  1. Very Informational Blog Sir. Really Get to learn a lot. thanx .

  2. really aapne bahut hi acha way bataya hai blog pr traffic badane ke liye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.