Basic Electronics resistance

क्या है प्राधिरोध या रेजिस्टेंस के प्रकार

प्रकृति में पाए जाने वाला हर पदार्थ विधुत धारा को प्रभावित करता हैं। पदार्थ का वह गुण जो करंट के मार्ग में बाधा उत्पन्न करता हैं। या करंट के बहाव का विरोध करता हैं,रजिस्टेंन्स (Electrical resistance) कहलाता हैं।  www.chip-level.com
रजिस्टेंन्स को “R” या “E” से प्रदर्शित किया जाता हैं।
रजिस्टेंन्स को Ω ओह्म (ohm) में नापा जाता हैं।

क्या है प्राधिरोध या रेजिस्टेंस ?

प्रकृति में पाए जाने वाले हर पदार्थ का अपना-अपना प्राधिरोध (रजिस्टेंन्स) होता है। कोई करंट का कम तथा कोई करंट का ज्यादा विरोध करता है। यानी कोई भी पदार्थ करंट को अपने अंदर से गुजरने से रोकता है।  प्रतिरोध करने की इसी क्षमता को रेजिस्टेंस कहा जाता है।
हर पदार्थ में अलग अलग प्रतिरोधक क्षमता होती है। जबकि कोई ताप व प्रकाश भी उत्पन्न करते हैं। प्रतिरोधी पदार्थों को उनके गुण व प्रतिरोधों के मन हिसाब से विभिन्न बिजली उपकरणों में विभिन्न उपयोगों के लिए काम में लाये जाते हैं।

कुछ पदार्थ जिनसे रजिस्टेंन्स के तौर पर उपयोग में लाया जाता हैं।

1.कार्बन – Carbon
2.मैगनीन
3.यूरेका – Eureka
4.नाईक्रोन – nichrome
5.टंगस्टन – tungsten

किसी पदार्थ के रजिस्टेंन्स की निर्भरता

किसी भी चालक का रजिस्टेंन्स मुख्य रूप से तीन बातों पर निर्भर करता हैं।

1. चालक तार की लंबाई
2. चालक तार की मोटाई
3. चालक तार का तापमान

प्रतिरोधक के प्रकार – Types of Resistor

[table id=20 /]

RESISTOR COLOR CODE : कार्बन रेजिस्टेंस का मान मालुम करना।

रेजिस्टेंस का प्रयोग करंट को कम करने के लिए किया जाता। रेजिस्टेंस का मान उसके ऊपर कलर के रूप में अंकित होता हैं।
रेजिस्टेंस के ऊपर मुख्यत: रंगों की चार,पाँच,या छ: रंगों की धारियां बनी होती हैं। इन्ही रंगों के मान के हिसाब से रेजिस्टेंस की वैल्यू निकलते है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एक कलर कोड प्रणाली का प्रयोग रेजिस्टेंस के मान जानने के लिए किया जाता हैं। इसमे 0 से 9 तक की संख्या के लिए कलर फिक्स्ड होते हैं जो की नीचे बताया गया हैं ।

International Level मुख्यता 10 रंग होते हैं। तो आइये समझते रेजिस्टेंस का मान पता कैसे करते है

[table id=21 /]
_____________________________________________________
TOLERANCE

  • Silver सिल्वर 0.1 +/-5%
  • Golden गोल्डन 0.01 +/-10%
  • No Color कोई रंग नहीं ___ +/-20%

किसी भी कार्बन रेजिस्टेंस में तीन से छ: Band या धारियाँ होती है।

पहली Band की पहचान color code of resistance

  1. रेजिस्टेंस के सिरे के सबसे नजदीकी धारी को पहला Band कहते है।
  2. पहली धारी में कभी भी काला ,गोल्डन या सिल्वर रंग नहीं आता हैं।
  3. गोल्डन या सिल्वर रंग हमेशा पहले दो रंग के बाद ही होते हैं ।
  4. किसी भी रेजिस्टेंस में कम से कम 3 और ज्यादा से ज्यादा 6 रंग होते हैं ।
  5. चार रंग की रेजिस्टेंस में पहले तीन रंग रेजिस्टेंस की मान जानने के लिए काम में आते हैं ।
  6. रेजिस्टेंस में पहले दो रंग की संख्या ज्यो की त्यों लिखी जाती हैं।
  7. रेजिस्टेंस में तीसरा रंग की जितने अंक का होता है उतने शून्य पहले दो रंगों के अंको के बाद लगते हैं ।
  8. इस तरह जो संख्या प्राप्त होती हैं। यही रेजिस्टेंस का मान (value)होती है। जिसे ओह्म (Ω )में मापा जाता हैं।
  9. यदि यह संख्या या से ज्यादा है। तो उसमे 1000 का भाग देकर (mΩ ) बनाते हैं।
  10. यदि गोल्डन या सिल्वर कलर रेजिस्टेंस में अंतिम Band में हो तो वह रेजिस्टेंस का टॉलरेंस (tolerance)होता हैं
    प्रतिरोध

Read >> Combination of resistance : रजिस्टेंस का संयोजन यानी रजिस्टेंस को जोड़ना

लेटेस्ट updates के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर करना न भूले।

About the author

inhindi

हम science, technology और Internet से संबंधित चीजों से संबंधित जानकारी शेयर करते हैं। Facebook, Twitter, Instagram पर हमें Follow करें, ताकि आपको ट्रेंडिंग टॉपिक पर Latest Updates मिलते हैं।

3 Comments

  • Jb kisi wire me koi resistance lagaya jata hai ,to wire me बहने वाली current के मान में कोई कमी होती है ,या i धारा के मान में कोई परिवर्तन नही होता है

  • जब किसी wire में कोई resistance लगाया जाता है तो उसमें बहने वाली धारा i के मान में कोई कमी होती है या i के मान में कोई परिवर्तन नही होता है??

Leave a Comment