फाइनेंसियल

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की 1 सितंबर से शुरुआत, मिलेगा ज्यादा ब्याज 

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक में क्या हैं ख़ास

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) की एक सितंबर से देशभर में शुरुआत हो जाएगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस सेवा का शुभारंभ करेंगे. सेविंग्स बैंक खातों की तुलना में इनमें ज्यादा ब्याज मिलेगा. बताया जाता है कि इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के बचत खातों पर 5.5 फीसदी तक ब्याज मिलेगा. जबकि सेविंग्स बैंक अकाउंट में ब्याज की दरें अभी 3.5-4 फीसदी के बीच हैं. आप घर बैठे कर्इ अन्य सुविधाओं का फायदा भी उठा सकेंगे.

केंद्रीय कैबिनेट ने इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक पर खर्च में 80 फीसदी बढ़ोतरी की अनुमति दी है. इससे इन पर खर्च होने वाली कुल रकम बढ़कर 1,445 करोड़ रुपये हो गई है. 635 करोड़ रुपये का अतिरिक्त आवंटन मुख्य रूप से टेक्नोलॉजी (400 करोड़) से जुड़ी लागत और मानव संसाधन (235 करोड़) के लिए किया गया है. बुधवार को हुर्इ कैबिनेट की बैठक के बाद इस बारे में औपचारिक बयान जारी किया गया था. इस बैठक की अध्यक्षता प्रधानमंत्री ने की थी.

इसे भी पढ़ें : एक सितंबर से नई गाड़ी का बीमा कराना हो जाएगा महंगा

लॉन्च के पहले ही दिन आईपीपीबी की देशभर में 650 शाखाएं और 3,250 एक्सेस पॉइंट होंगे. ये तमाम तरह की सेवाओं की पेशकश करेंगे. इनमें सेविंग्स व करेंट अकाउंट, मनी ट्रांसफर, डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर, बिल और यूटिलिटी पेमेंट्स तथा एंटरप्राइज व मर्चेंट पेमेंट्स शामिल हैं.

भारतीय डाक भुगतान बैंक

इन सेवाओं की पेशकश काउंटर सर्विस, माइक्रो एटीएम, मोबाइल बैंकिंग एप, एसएमएस और आईवीआर जैसे अलग-अलग चैनलों से की जाएगी.

देश के सभी 1.55 लाख डाकघरों को 31 दिसंबर, 2018 तक आईपीपीबी सिस्टम से जोड़ा जाएगा. आईपीपीबी सेवाओं को मुहैया कराने के लिए पोस्टल स्टाफ और ग्रामीण डाक सेवकों को कमीशन की भी मंजूरी दी गर्इ है. यह कमीशन उनके खाते में सीधे आएगा.

इसे भी पढ़ें : Voter ID card apply: ऑनलाइन कैसे बनवायें या अपडेट करें

तेलंगाना पोस्टल सर्किल के चीफ पोस्टमास्टर जनरल ने बताया कि तेलंगाना पोस्टल सर्किल में 23 ब्रांचों और 115 एक्सेस पॉइंट में आईपीपीबी की सेवाएं एक सितंबर से शुरू हो जाएंगी.

भारतीय डाक भुगतान बैंक – इंडिया पोस्ट के पहले से ही देश में 40 करोड़ ग्राहक हैं. इसके 17 करोड़ से ज्यादा पोस्ट आफिस सेविंग्स अकाउंट हैं.

Leave a Comment