Income Tax slab 2021-2022: कर राहत की उम्मीद कर रहे लोगों को झटका लगा, टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं हुआ

Budget 2021 Income Tax Slab: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट पेश किया है। बड़ी बात यह है कि बजट में आम जनता को टैक्स में कोई राहत नहीं दी गई है। 2021-2022 बजट में मौजूदा Tax slab में कोई बदलाव नहीं किया गया है। निर्मला सीतारमण ने कहा है कि वरिष्ठ नागरिकों को कर में छूट दी जाएगी। 75 वर्ष की आयु पार कर चुके वरिष्ठ नागरिकों को अब ITR भरने की आवश्यकता नहीं होगी। यानी अब वे income tax रिटर्न दाखिल नहीं करेंगे।

10 लाख से 20 लाख तक के वेतन पर नए और पुराने सिस्टम में कितना टैक्स देना होगा?

7.5 से 10 लाख तक की आय पर 15% कर

बता दें कि अगर किसी का वेतन या आय 2.5 लाख रुपये है, तो उसे सरकार द्वारा कर मुक्त रखा गया है। यह पुरानी और नई दोनों प्रणालियों में समान है। साथ ही 2.5 लाख रुपये से 5 लाख तक की आय पर पहले की तरह 5 प्रतिशत टैक्स लगाया गया है। साथ ही उन पर 10 प्रतिशत टैक्स लगाया गया है जिनकी आय 5 लाख रुपये से 7.5 लाख रुपये तक है। जिनकी आय 7.5 लाख से 10 लाख रुपये है, उन्हें 15 प्रतिशत टैक्स देना होगा।

15 लाख से अधिक आय पर कर 30% है

सालाना 10 लाख से 12.5 लाख रुपये कमाने वालों को 20 प्रतिशत टैक्स देना होगा। सरकार ने 12.5 लाख रुपये से 15 लाख रुपये की आय पर 25 प्रतिशत कर लगाया है और 30 प्रतिशत कर उन लोगों पर लगाया गया है जिनकी आय 15 लाख रुपये से अधिक है।

आयकर की नई और पुरानी दरें

आय (रु।) नई दर पुरानी दर

2.5 लाख रुपये तक कोई टैक्स नहीं

2.5 लाख – 5 लाख तक 5% 5%

5 लाख – 7.5 लाख 10 प्रतिशत 20 प्रतिशत

7.5 लाख – 10 लाख 15 प्रतिशत 20 प्रतिशत

10 लाख – 12.5 लाख 20 प्रतिशत 30 प्रतिशत

12.5 लाख – 15 लाख 25 प्रतिशत 30 प्रतिशत

1.5 करोड़ से ऊपर 30 फीसदी 30 फीसदी

आयकर क्या है? (What is Income Tax?)

केंद्र सरकार आपकी वार्षिक आय पर जो कर एकत्र करती है उसे आयकर कहा जाता है। इसे Hindi me Income Tax लिखा और कहा जाता है। यह प्रत्येक व्यक्ति की आय के अनुसार अलग-अलग दर से लिया जाता है। यह आयकर, व्यापारिक संस्थाओं पर कॉर्पोरेट कर के रूप में लिया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here