हेल्दी हेयर के लिए होम मेड हेयर पैक – Best Homemade Hair Packs tips

1
226
हेयर पैक

Best Homemade Hair Packs tips – सेहतमंद व सुंदर बालों के लिए केवल शैम्पू व कंडीशनर ही काफी नहीं होता बल्कि बालों में अंदरूनी चमक लाने के लिए नियमित रूप से हेयर पैक का इस्तेमाल करना भी जरूरी है।

हेयर पैक से बालों को बनाये सेहतमंद Best Homemade Hair Packs tips

आज के वक्त में कामकाज की थकान, प्रदूषण धूल-मिट्टी, लगातार बने रहने वाला तानाव और आधे-अधूरे पौष्टिक आहार की पूर्ति सिर्फ तेल मालिश, शैम्पू और कंडीशनर की बदौलत तो पूरी न ही की जा सकती है। इसीलिए बालों के लिए जस्रत पडती हेअर पैक की।

हेयर पैक के बालों की बाहरी और भीतरी समस्याओं का समाधन करता है, जिससे बालों को मिलता है संपूर्ण और सही पोषण। अब जब पोषण होगा संपूर्ण और सही, तो क्यों नहीं होगें बाल सिल्की-हेल्दी-शायनी! लेकिन हां, यह जरूरी है कि हेयर पैक से अच्छे जूडी छोटी-बडी जरूरी बातों को जानना।

बालों के अनुरूप हो हेयर पैक

ज्यादातर लोग हेअर पैक को सीधा-सीधा मेंहदी से जोड देते है, जबकि यह धारणा गलत है। हेयर पैक अलग-अलग प्रकार के बालों की प्रकृति, उनकी जरूरत या समस्याओं और जरूरी सौंदर्य उपचार को ध्यान में रखकर तैयार किया जाता है। इसलिए अलग-अलग ढंग से तैयार किया जाता है।

यह कई तरह के हब्र्स, फल और उन दूसरे तत्वों की मदद से तैयार किया जाता है, जिनकी बालों का जरूरत होती है।
अब जैसे कि मेंहदी को सभी तरह के बालों के लिए उपयोगी माना जाता है, जबकि नेचुरल कलर और कंडीशनर देने के बावजूद मेंहदी बालों को ड्राई यानी सूखा भी बनाती है। इसलिए बहुत जरूरी है कि जब भी कभी रूखे-सूखे बालों के लिए मेंहदी पैक तैयार करना हो तो कुछ खास बातों का ध्यान जरूर रखें।

जरूरी है साफ बाल

पैक लगाने से पहले दूसरी अहम बात है, बालों का साफ होने। बाल गंदे हैं और उन्हें धोना है तो चलो साथ में पैक भी लगा लेते है, ऐसा सोचना सिरे से गलत है। चाहे तेल हो या पैक यह बालों को पोषण देने का काम करते हैं, जो तभी संभव है, जब बाल साफ-सुथरे हों। गंदे बालों में तो उन पर जीम गंदगी की परत इन पोषक तत्वों को जडों तक पहुंचने ही नहीं देगी। ऐसे में पैक या तेल लगाना, न लगाना एक ही बराबर है, क्योंकि पोषण तो बालों की जड से ही सिरों तक जाता है न। इसलिए जब भी पैक लगाना हो, साफ-सुथरे बालों पर ही लगाएं।

पहचानें भीतरी समस्या भी

हेयर पैक आमतौर पर दो तरह के होते हैं। एक जो बालों से जुडी समस्याओं जैसे- बालों का गिरना, डैंड्रफ वगैरह के निदान के लिए। और दूसरा, बालों को कंडीशनर करने के लिए और उनकी चमक बढाने, धूप से प्रभावित हुए बालों को ठीक करने या सख्त बालों को मुलायम करने के लिए। इसलिए सबसे पहले अपने बालों को जरूरत को पहचाने और फिर उसी के अनुरूप हेअर पैक का चुनाव करें। इन्हें आप खुद घर पर ही बनाकर भी लगा सकती हैं।

इसके साथ-साथ इस बात का भी ख्याल रखिएगा कि आपके बालों से जुडी अगर कोई समस्या है तो उसका कारण क्या है। जैसे- आजकल बालों की ज्यादातर समस्याओं की जड में खानपानसे जुडा अधुरा पोषण, लगातर बना रहने वाला मानसिक तानव जैसी बातें होती हैं तो पहले इन पर ध्यान दें।

अगर डैंड्रफ की समस्या हो तो उसके को ही ले लें, जिसके लिए कहा जाता है कि यह हो तो आसानी से जाती है, मगर जाती बडी ही मुशिकलों से है।

साथ ही कई लोग ब्यूटी क्लिनिक में मिलने वाले उपचार या शैंम्पू भी उन्हें इस समस्या से मुक्ति नहीं दिला पाता।
मगर, इसकी असली वजह तो यह है कि ज्यादातर लोग एक तरह तो डैंड्रफ का ट्रीटमेंट लेते हैं। और दूसरी तरफ उसे बढाने वाली चीजों का इस्तेमाल करते है।

इसके लिए हर बार डैंड्रफ ट्रीटमेंट लेने या सिर धोने के साथ ही अपना निजी तौलिया, कंघी, तकिये के कवर वगैरह भी तुरंत बदल कर साफ करना होता है, वरना हटी हुई डैंड्रफ वापस आ जाती है।

ठीक इसी तरह बालों की दूसरी समस्याओं पर भी गहराई से ध्यान देने की जरूरत होती है, जिससे मेहनत से तैयार हेअर पैक बेकार न चला जाए।

Best Homemade Hair Packs – हेअर पैक

यहां हम दे रहे हैं, कुछ अलग-अलग बालों के अनुसार हेअर पैक बनाने की विधि-

रूखे बालों के लिए Dry hair Packs

इसके लिए सबसे पहले बालों को प्राकृति के अनुसार शैंम्पू से धोकर कंडीशनर करें। फिर बालों को प्राकृतिक रूप से सूखने दें। इनके लिए हेअर पैक तैयार करते समय ध्यान रखें कि मेंहदी का प्रयोग न करें,

लेकिन अगर नेचुरल कलर के लिए मेंहदी का प्रयोग करना ही चाहती हैं तो उसके साथ-साथ दूसरी चीजें भी जरूर डालें।

मुल्तानी मिट्टी Multani Mitti Hair Packs

पैक तैयार करने के लिए केओलिन पाउडर (मुल्तानी मिट्टी का ही एक प्रकार) जिसे औषधीय तरीके से तैयार किया जाता है। आसानी से किसी भी केस्टि शाॅप पर मिल जाता है या फिर थोडा सा केलामाइन ले लीजिए। उसमें एक अडें का पीला भाग,थोडा-सा आॅलिव आॅयल या बादाम का तेल डालकर मिला लें।

थोडा-सा पानी डालकर उसका पैक तैयार कर लीजिए। इसे चाहें तो सारे बालों पर लगा सकती हैं, मगर यह खासतौर से बालों की जडों, यानी सिर की ऊपरी त्वचा पर लगाला जाता है। अंडे की जर्दी यानी पीले भाग की यह खासियत होती है कि यह बडी ही तेजी से त्वचा में समा जाता है, जिससे इसका पोषण सीधे की त्वचा के भीतर तक पहुंचता है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here