Tips & Tricks

Hard Disk की प्रमुख समस्याएं और उनके समाधान

हार्ड डिस्क (Hard disk Repair in hindi) किसी भी कंप्यूटर के मुख्य घटकों में से एक है और इसमें बहुत अधिक डेटा शामिल हो सकते  है। फ़ाइलों को इस तरह से संग्रहित किया जाता है कि वे किसी भी समय प्राप्त कर सकते हैं। दुर्भाग्यवश, कभी-कभी ऐसा समय भी आता है जब  हार्ड डिस्क कर्रप्ट यानी सही से काम नहीं करती है। ऐसी स्थिति में यह पूरी संभावना है की उसमे स्टोर सामग्री को आप एक्सेस नहीं कर सकते। ऐसी प्रॉब्लम को हार्ड डिस्क फैलियर (hard disk failure in hindi) कहते है। आप  ऐसी अवस्था में होंगे जहाँ आपका कीमती डाटा खो सकता है।

हार्ड डिस्क की प्रमुख समस्याएं और उनके समाधान  Hard Disk Problems and Solutions in hindi

हममें से अधिकांश हार्ड डिस्क की सुरक्षा के बारे में नहीं सोचते हैं, जब तक कि कुछ गलत न हो। हम तब  मानते हैं  जब हम मॉनीटर के स्क्रीन पर कुछ भी दिखाई  नहीं देता। कहते है हार्ड ड्राइव ख़राब हो गयी।
जब संग्रहीत जानकारी तक  आसानी से नहीं पहुँचा जा सकता  है, तब हम कह सकते हैं कि हार्ड डिस्क में समस्या हुई है।

हार्ड डिस्क खराब होने के कारण – Reasons of hard disk failure

हार्ड डिस्क विफलता के कई कारण हैं। कुछ कारण वायरस के हमले, खराब बिजली की आपूर्ति, भ्रष्ट ऑपरेटिंग सिस्टम, क्षतिग्रस्त ब्लॉक आदि हैं। पुराने पार्ट्स होने के कारण भी हार्ड डिस्क विफल हो सकते हैं। एचडीडी की असफलता का सबसे आम कारण हेड क्रैश  है,
read-write हेड  के बार बार पलेटर को छूने से डिस्क के सरफेस पर स्क्रैच पड़ जाते है।  साथ ही हेड को भी नुकसान होता रहता है। जिसके कारण हेड आखिर क्रैश हो जाता है। एक बार यदि हेड क्रैश हो जाए तो डिस्क में से डाटा को बिना स्पेशल इक्विपमेंट के रिकवर  नहीं किया जा सकता है।  उचित उपकरण के द्वारा ही डाटा रिकवरी संभव है। how to recover data from Hard disk | Memory Card | Pendrive
  • Air Filter : एयर फिल्टर समस्या एचडीडी विफलता का एक और कारण है। यदि एयर फ़िल्टर वायुमंडल से धूल के कणों को फ़िल्टर करने में विफल रहता है, तो वे हार्ड ड्राइव में चले जाते है जो हैड क्रैश करने का कारण बनते है।  जिससे मीडिया हेड  क्रैश हो जाता है।
Tips: आपको हार्डवेयर की विफलता के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है, यदि  आप CloudDesktopOnline.com से क्लाउड में विंडोज़ डेस्कटॉप पर काम कर रहे हैं।   जिसे पीसी / मैक्स / आईओएस / एंड्रॉइड डिवाइस के साथ कहीं से भी एक्सेस किया जा सकता है। इसके अलावा आप अपने डेस्कटॉप पर Office 365 को O365CloudExperts.com  के साथ जोड़ सकते हैं।

हार्ड डिस्क खराब होने के लक्षण – Hard disk failure symptoms

हार्ड डिस्क खराब होने के लक्षण या तो धीरे-धीरे या भयावह रूप से हो सकती है धीरे-धीरे एचडीडी की विफलता का निदान करना मुश्किल है। हार्ड डिस्क पूरी तरह से ख़राब होने से पहले सिस्टम स्लो होना,पीसी के धीमेपन, फाइलों का कर्रप्ट  होना आदि जैसी लक्षण सामने आते है।  यह  मैलवेयर या वायरस  के कारण भी  हो सकता है। Bad Sector की  बढ़ती संख्या का परिणाम हार्ड डिस्क फैलियर के रूप में सामने आ सकता है। एचडीडी Bad Sector  को धीरे-धीरे अपनी दोष तालिका में जोड़ता है और अंततः काम करना बंद कर देता है। एचडीडी कई तरीकों से खराब हो सकता है, जो सीमित, प्रगतिशील, पूरी तरह  या तत्काल हो सकता है। अधिकांश मामलों में, डेटा आंशिक रूप से या पूर्णतः पुनर्प्राप्त किया जा सकता है। गंभीर मामलों में, डेटा पूरी तरह से नष्ट भी हो सकता है।

यहां संभावित हार्ड डिस्क समस्याओं और उनके समाधानों की एक सूची

दी गई है जो सभी को पता होना चाहिए: –

1. हार्ड डिस्क पर Corrupted files

कभी-कभी, फाइल उपयोगकर्ता के लिए  inaccessible हो जाता है क्योंकि ऑपरेटिंग सिस्टम ठीक से बूट होने में विफल रहता है। इसका प्रमुख कारण सिस्टम का सही ढंग से शट डाउन  न किया जाना, ज्यादातर ऐसा गलती से या अचानक बिजली के बाधित होने, कर्रप्ट सॉफ्टवेयर का उपयोग करने के कारण कंप्यूटर अचानक बंद हो जाते है। ऐसा होने से हार्ड ड्राइव में स्टोर फाइल्स डैमेज हो जाते है।
  • समाधान: – हमेशा सही  तरीके से  सिस्टम को बंद करे। अपनी हार्ड डिस्क में संदेहास्पद सॉफ़्टवेयर और दुर्भावनापूर्ण प्रोग्राम इनस्टॉल  करने से बचें। अवांछित कार्यक्रमों को हटाने के लिए नियमित आधार पर हार्ड डिस्क को साफ करते रहे। यूपीएस आदि का उपयोग करे।  जिससे बिजली के अचानक चले जाने पर तुरंत सिस्टम बंद न हो।

 2. वायरस थ्रेट  Hard disk Virus threat

वायरस का हमला एक बड़ी समस्या है जिसका सामना एचडीडी  करना पड़ता  है। यह समस्या तब होती है जब वायरस या मैलवेयर प्रोग्राम द्वारा हार्ड डिस्क पर हमला कर देते  है। यह नेटवर्क में अन्य प्रणालियों तक फैलता है। आपके सिस्टम में यह वायरस  अन्य मीडिया, बाहरी ड्राइव, नेटवर्क आदि से वायरस आ  सकता है। यदि उपयोगकर्ता फ़ाइलों का बैक-अप लेता है जिसमें वायरस होता है, तो सिस्टम फिर से संक्रमित हो सकता  है और इसका परिणाम हार्ड डिस्क की खराबी के रूप में सामने आ सकता है।
  • समाधान: – इस समस्या का सबसे अच्छा समाधान एक विश्वसनीय एंटी-वायरस प्रोग्राम की सहायता से नियमित आधार पर सिस्टम को स्कैन करते रहे  है। एंटी-वायरस प्रोग्राम को बार-बार अपडेट करना आवश्यक है। ताकि यह लगभग सभी प्रकार के वायरस और मैलवेयर प्रोग्राम का पता लगा सके।

3. अप्रत्याशित कंप्यूटर क्रैश Unexpected computer crashes

ऐसा तब भी हो सकता है जब हार्ड डिस्क में बहुत से बुरे सेक्टर और ब्लॉक होते हैं कभी-कभी, हार्ड डिस्क क्रैश हो सकता है क्योंकि स्पिंडल मोटर का घूमना  बंद हो जाता है।  फाइलों और फ़ोल्डर्स का गायब होना, क्लिक-क्लिक आदि आवाज का होना इस बात का संकेत है। यह जो समस्या तब होती है जब हार्ड ड्राइव को लिमिट से ज्यादा बार फॉर्मेट किया जाता है। और हार्ड डिस्क के पार्ट पुराने हो जाते है।
  • समाधान – इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए, उपयोगकर्ताओं को एक विश्वसनीय सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम का उपयोग करके अपने सिस्टम को नियमित आधार पर अद्यतन करना होगा। इस समस्या से बचने के लिए 3-4 साल के उपयोग के बाद एचडीडी को बदल देनी चाहिए।

4. कंप्यूटर हार्ड डिस्क या BIOS का पता लगाने में विफल रहता है :

Computer fails to detect hard disk or BIOSजब यूपीएस आवश्यक बिजली की आपूर्ति प्रदान करने में विफल रहता है या बहुत अधिक बिजली आपूर्ति देता है, तो BIOS हार्ड ड्राइव का पता लगाने में अक्षम होता है।  ऐसी स्थितियों में एचडीडी स्पिन करने में विफल रहता है यह समस्या मदर बोर्ड  के साथ भी हो सकती है

  •  समाधान: – इस समस्या से बचने के लिए, सुनिश्चित करें कि आपके सिस्टम को पर्याप्त बिजली आपूर्ति मिल  रही है आप एक प्रतिष्ठित ब्रांड यूपीएस का उपयोग कर इस समस्या का निवारण कर सकते हैं। इसके अलावा  एडीई, एटीए, या एससीएसआई केबल को भी बदल कर देखे। आप ड्राइव को किसी अन्य पावर प्लग पर भी स्विच कर सकते हैं।

5. विनिर्माण गलती Hdd Manufacturing fault

इस प्रकार की समस्या नई हार्ड डिस्क के साथ होती है, जब ग्राहक को बिना परीक्षण के हार्ड डिस्क वितरित किया जाता है। हार्ड डिस्क अच्छी तरह से शुरू में काम कर सकती है, लेकिन कुछ महीनों के बाद, यह गैर-उत्तरदायी हो जाता है।
  • समाधान: – इस समस्या का समाधान उचित परीक्षण है। खरीदार को घर लाने से पहले ही हार्ड डिस्क का परीक्षण करना चाहिए। यदि आप इसे इनस्टॉल  करने के बाद किसी भी प्रकार की समस्या का सामना करते हैं, तो इसे तुरंत बदला जाना चाहिए।

6. गर्मी और धूल Heat and dust

यह भी  हार्ड डिस्क की  समस्याओं में से एक है जो अक्सर हो जाती। अतिरिक्त उपयोग के कारण, सिस्टम पीक बिंदु तक गर्म हो जाता है। कभी-कभी, वेंटिलेशन और दोषपूर्ण CPU फैन  की कमी भी इस समस्या का कारण बनती है।
  • समाधान: – सुनिश्चित करें कि CPU FAN उचित स्थिति में हैं। जांचें कि क्या प्रोसेसर पर्याप्त ठंडा हो रहा है या नहीं। उपयोगकर्ता SMART TOOLS का उपयोग कर सकते हैं जो उन्हें हार्ड डिस्क की स्थिति और भविष्य में हार्ड डिस्क का सामना करने के जोखिम के बारे में सूचित कर सकते हैं

ऊपर दिए  हार्ड डिस्क समस्याओं के लक्षण और समस्या से आप अपने हार्ड डिस्क की स्थिति जान सकते है।  जिससे आपको Hard drive problems का सामना न करना पड़े। इसके अतिरिक्त यदि आपका कोई प्रश्न या सुझाव है तो आप निचे कमेंट पर सकते है।  आप नवीनतम जानकारी से हमेशा अपडेट रहे इसके लिए हमारे फेसबुक और सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ सकते है। [Image credit: Jorge Ferrer, Flickr]

About the author

inhindi

हम science, technology और Internet से संबंधित चीजों से संबंधित जानकारी शेयर करते हैं। Facebook, Twitter, Instagram पर हमें Follow करें, ताकि आपको ट्रेंडिंग टॉपिक पर Latest Updates मिलते हैं।

5 Comments

Leave a Comment