हनुमान जी की पूजा मंगलवार के साथ-साथ शनिवार को भी क्यों की जाती है?

हनुमान जी की पूजा मंगलवार के साथ-साथ शनिवार को भी क्यों की जाती है?

हम सभी जानते हैं कि मंगलवार भगवान हनुमान को समर्पित है। लोगों की मानें तो इस दिन हनुमान जी की पूजा करने से आपको मनचाहा फल जरूर मिलता है। यह बहुत कम लोगों को पता है कि हनुमान जी की पूजा का मंगलवार के साथ-साथ शनिवार को भी विशेष महत्व है। हमारी धार्मिक कथाओं के अनुसार, एक विशेष वचन के कारण शनिवार को हनुमान जी की पूजा का विशेष महत्व है।

यदि आप धार्मिक कथाओं पर विश्वास करते हैं, तो जान लें कि यह रामायण युग की बात है जब रावण ने शनि देव को अपने लंका में बांध कर रखा था। यह हनुमान जी ही थे जिन्होंने शनि देव को रावण के बंधन से मुक्त किया था। और फिर शनि देव ने भगवान हनुमान को वचन दिया कि मेरे अशुभ प्रभाव का आपके भक्तों पर कभी प्रभाव नहीं पड़ेगा।मंगलवार को कैसे करे हनुमान जी की पूजा

1. शनि देव ने हनुमान को आगे बताया कि – यदि कोई भक्त शनिवार को भी आपकी पूजा करता है, तो उसकी सभी मनोकामनाएं जल्द से जल्द पूरी होंगी। धार्मिक कथाओं में यह भी कहा गया है कि शनि देव के इस शब्द के कारण, शनिवार को हनुमान जी की पूजा का विशेष महत्व माना जाता है।

2. हनुमान चालीसा का स्मरण मंगलवार के साथ-साथ शनिवार को भी करें। यदि संभव हो तो इस दिन एक से अधिक बार हनुमान चालीसा का पाठ करने का प्रयास करें। यह भी माना जाता है कि शनिवार को सुंदरकांड का पाठ करने से भी विशेष लाभ होता है।

दोस्तों, इस कलियुग में, हनुमान जी को एक ऐसे देवता के रूप में माना जाता है जो अभी भी इस धरती पर जीवित हैं और इसलिए वे अपने भक्त को जल्दी सुन भी लेते हैं। यही कारण है कि उनकी पूजा करने से आप सभी दोषों से मुक्त हो जाते हैं और आपका पूरा जीवन आनंद से भर सकता है।

Follow & Like This article on Social Platform : Facebook – Twiter – Youtube

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.