पर्सनल कंप्यूटर की बाहरी संरचना और विभिन्न पार्ट्स | External structure of computer and parts

0
65

External structure of personal computer and various parts | पर्सनल कंप्यूटर की बाहरी संरचना और विभिन्न पार्ट्स : जैसा  कि मैंने पहले आप को पिछली पोस्ट (कंप्यूटर क्या होता है What Is Computer ?) में बताया है। कि कंप्यूटर एक ऐसा डिवाइस है। जो कि दिए गए डेटा के आधार पर लॉजिकल ऑपरेशन करके एक आउटपुट प्रदान करता है। यानी दूसरे शब्दों में कहें तो, यह एक प्रोग्राम में दिए गए निर्देशों के अनुसार काम करता है।

External structure of personal computer and various parts, पर्सनल कंप्यूटर की बाहरी संरचना और विभिन्न पार्ट्स
External structure of personal computer and various parts

कंप्यूटर अपने आप कुछ नहीं कर सकता। यह एक प्रोग्रामर के द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार बहुत ही चतुराई के साथ काम करता है। कंप्यूटर के द्वारा किए गए कामों में किसी भी प्रकार की गलती होने की संभावना ना के बराबर होती है।
एक व्यक्ति पर उसके आसपास के वातावरण का प्रभाव पड़ता है। जिससे उसके द्वारा किए जाने वाले काम पर भी इसका असर होता है। लेकिन, कंप्यूटर पर इस तरह का कोई भी प्रभाव नहीं होता।

जैसा कि पहले मैंने आपको कंप्यूटर के ब्लॉक डायग्राम के जरिए यह बताया है। कि कंप्यूटर इनपुट डाटा, कंट्रोल यूनिट को भेजता है। और मेमोरी में प्रोसेस होकर आउटपुट CU के माध्यम से कंट्रोल आउटपुट  के रूप में बाहर भेजा जाता है।

computer block diagram
computer block diagram

 

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट Central Processing Unit

जब एक प्रोग्राम execute किया जाता है। तो उससे संबंधित सूचनाएं मेमोरी में एक के बाद एक सिलसिलेवार तरीके से काम में ली जाती हैं। कंट्रोल यूनिट इंस्ट्रक्शन को डिकोड  करने का काम करते हुए, अन्य यूनिट को कंट्रोल सिग्नल भी देता है।

जब एक बार इंस्ट्रक्शन execute हो जाता है। तो उसका रिजल्ट मेमोरी में स्टोर कर दिया जाता है। जिससे ALU और  कंट्रोल यूनिट दूसरे इंस्ट्रक्शन को execute  करने के लिए अवेलेबल हो जाते हैं। उसके साथ ही आउटपुट डिस्प्ले भी कर दिया जाता है। जब कंट्रोल यूनिट और ALU को  एक ही रूप में देखा जाता है तो हम उसे सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट यानि CPU के नाम से जानते हैं।

कंप्यूटर के विभिन्न विभाग आपस में सूचनाओं के आदान प्रदान के लिए जिस चैनल का इस्तेमाल करते हैं। उसे कंप्यूटर भाषा में बस (BUS) कहा जाता है। यह बस तारों का कुछ समूह होता है। जो एक जगह से दूसरे जगह पर सिग्नल को ले जाने का काम करता है। CPU  तीन प्रकार की  buses, peripheral devices  से सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए काम करता है।

computer buses and its types
computer buses and its types

  यह तीन प्रकार की होती है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here