Durga Puja (Pujan) Vidhi In Hindi – नवरात्रों में दुर्गा विधि अनुसार

0

माँ दुर्गा को खुश करने के लिए दुर्गा पूजा विधि अनुसार करे तो दुर्गा माता सभी मनोकामना पूरी करती हैं। Durga Puja (Pujan) Vidhi In Hindi.

Durga Puja (Pujan) Vidhi In Hindi – नवरात्रों में दुर्गा पूजन

नवरात्रों में दुर्गा पूजन का विशेष महत्व होता हैं वैसे किसी भी दिन दुर्गा देवी की पूजा कर सकते हैं। सुबह ब्रह्मुहुर्त में स्नान करके और लाल कपडे पहनकर दुर्गा पूजन करना चाहिए।

दुर्गा पूजा के अंतिम दिन ब्राह्मण और 9 छोटी कन्याओ को भोजन कराना चाहिए।

दुर्गा पूजा का सकंल्प कैसे ले

दुर्गा पूजन शुरू करने से पहले सकंल्प जरूर लें। संकल्प करने से पहले हाथों में जल, फूल व चावल लें। सकंल्प में जिस दिन पूजन कर रहे हैं उस वर्ष, उस वार, तिथि उस जगह और अपने नाम को लेकर अपनी मनोकामना बोलें। अब हाथों में लिए गए जल को जमीन पर छोड़ दें।

दुर्गा पूजन करने की विधि

अपने बाएँ हाथ की हथेली में जल लें एवं दाहिने हाथ की अनामिका उँगली व आसपास की उँगलियों से निम्न मंत्र बोलते हुए स्वयं के ऊपर एवं पूजन सामग्रियों पर जल छिड़कें

ॐ अपवित्रः पवित्रो वा सर्वावस्था गतोsपि वा l या स्मरेत पुण्डरीकाक्षं स बाह्रामायंतर: शुचि: ll

श्रद्धा भक्ति के साथ घी का दीपक लगाएं। दीपक रोली/कुंकु, अक्षत, पुष्प , से पूजन करें।

अगरबत्ती/धूपबत्ती जलाये

जल भरा हुआ कलश स्थापित करे और कलश का धूप ,दीप, रोली/कुंकु, अक्षत, पुष्प , से पूजन करें।
सर्वप्रथम गणेशजी का पूजन करे

अब दुर्गा माँ का ध्यान और हाथ मैं अक्षत पुष्प लेकर ” श्री जगदम्बायै दुर्गा देव्यै नम:। दुर्गादेवीमावाहया​मि” मंत्र बोलते हुए दुर्गा माँ का आवाहन करे

अक्षत और पुष्प दुर्गा माँ की मूर्ति पर समर्पित कर दे

अब दुर्गा माँ की मूर्ति को जल, कच्चे दूध और पंचामृत से स्नान कराये
अब माता दुर्गा को वस्त्र अर्पित करें। वस्त्रों के बाद आभूषण पहनाएं।
कुमकुम, अक्षत, सिंदूर, इत्र ,गुड़हल का पुष्प और माला अर्पित करे

धुप और दीप दिखाए

मिठाइयाँ, एवं ऋतुफल जैसे- सेब, चीकू आदि का नैवेद्य अर्पित करे
माता दुर्गा की प्रतिमा के सामने नारियल अर्पित करें।

  • आचमन के लिए जल अर्पित करे
  • श्री दुगा चालीसा का पाठ करे
  • अंत मैं दुर्गा माँ की आरती करे
  • पुष्पांजलि समर्पित करे

दुर्गा पूजा के बाद अज्ञानतावश पूजा में कुछ कमी रह जाने या गलतियों के लिए दुर्गा माँ के सामने हाथ जोड़कर निम्नलिखित मंत्र का जप करते हुए क्षमा याचना करे

मन्त्रहीनं क्रियाहीनं भक्तिहीनं सुरेश्वरि l यत पूजितं मया देवी, परिपूर्ण तदस्त्वैमेव l
आवाहनं न जानामि, न जानामि विसर्जनं l पूजा चैव न जानामि, क्षमस्व परमेश्वरि l

हमारी बताई गयी सरल दुर्गा पूजा विधि से दुर्गा पूजन करे और दुर्गा माँ आपकी सारी मनोकामनाएं पूर्ण करेगी

दुर्गा पूजन सामग्री

दुर्गा माँ के लिए वस्त्र और आभूषण
लाल कपडा और चौकी
कच्चा दूध चावल अष्टगंध
दीपक तेल रुई
धूपबत्ती चंदन कुमकुम
गुड़हल के फूल घी गन्ने का रस
गंगा जल जनेऊ फल
मिठाई नारियल
पंचामृत (दूध, दही, घी, शहद व शक्कर)
सूखे मेवे पान दक्षिणा

 

  • अम्बे आरती
  • अर्गला स्तोत्र
  • चामुंडा मंत्र
  • देवी मंत्र
  • दुर्गा आरती
  • दुर्गा चालीसा
  • दुर्गा कवच
  • दुर्गा सप्तश्लोकी
  • दुर्गा स्तोत्र
  • दुर्गा स्तुति
  • जगदंबा आरती
  • वैष्णो माता की आरती

दिशाशूल विचार: यात्रा करने से पहले इन चीजों को नहीं करना चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here