दूध का उफनना, दूध का जलना : दुर्भाग्य का संकेत है, सुबह-सुबह रसोई में होने वाला यह काम

दूध का उफनना, दूध का जलना : अक्सर हमारे जीवन में हुई अनचाही चीज़े हमें किसी न किसी बात का संकेत देती हैं। जैसे की हाथ से किसी बर्तन कर छूटना। या फिर कांच का टूटना। या फिर दूध का उबलना। उबलने के बाद बाहर निकलना। (दूध का उफनना) तो आज  मैं आपको यही बताउंगी कि, अगर दूध निकल कर उबलने के बाद बाहर आ जाए। तो इसका क्या मतलब होता है। क्योंकि, अक्सर यह चीज हमारे साथ हो जाती है। तो, चलिए जानते हैं, इसके बारे में की शगुन अपशगुन शास्त्र क्या कहता है।

प्राचीन काल से ही शकुन अपशकुन की मान्यताएं प्रचलित है। आज भी अगर कुछ ऐसा होता है। तो हम कहते हैं कि, अप श गुन हो गया। किसी न किसी काम को करते टाइम, कुछ छोटी मोटी घटनाएं जरूर होती है। अगर, इन घटनाओं को, हम सही तरह से समझेंगे तो, हम भविष्य में होने वाली बातों को समझ सकते हैं। यानी कि, भविष्य में होने वाली घटनाओ के बारे में पता लग जाता है। ज्योतिष के अनुसार, इन घटनाओं का संबंध भविष्य से होता है। जानिए छींक से जुड़े शकुन-अपशकुन

D00dh ka girna shubh ya ashubh

doodh ka jalna shubh ya ashubh, dudh ka girna shubh ya ashubh, doodh ka fatna shubh ya ashubh doodh ka jal jana, doodh ka bikharna, doodh ka gir jana, doodh jal jana, dahi ka girna shubh ya ashubh,

हम सभी चाहते है कि हम अपने जीवन में हमेशा सुख रहे हमें कोई भी कभी भी परेशानी है। तो ऐसे उपाय अपनाने लगते है जिससे कि आपको हर समस्या से निजात मिल जाए। वास्तु शास्त्र एक ऐसा शास्त्र है जिसके द्वारा हम हर समस्या से तुरंत निजात पा लेते है। (दूध का उफनना)

आज हम अपनी खबर में रसोई घर के वास्तु के बारें में बताएगे कि वहां पर ऐसे कौन सा काम नहीं करना चाहिए जिससे कि आपको कोई समस्या हो। कहा जाता है कि रसोई एक ऐसी जगह है जहां पर हर रोज अपने परिवार के लिए सेहत वाला भोजन बनाते है।
जिससे कि हमारे परिवार का हर सदस्य सही रहें। इतना ही नहीं वह एक ऐसी जगह है जहां पर वास्तु का भी प्रभाव पड़ता है। वो अच्छा भी हो सकता है और खराब भी।

दूध का फटना शुभ या अशुभ, तेल का गिरना शुभ या अशुभ, दूध का उफनना, दूध का जलना, दही का गिरना शुभ या अशुभ, नमक का गिरना, घी का गिरना शुभ या अशुभ, दूध का जलना शुभ या अशुभ,
दूध का फटना शुभ या अशुभ, तेल का गिरना शुभ या अशुभ, दूध का उफनना, दूध का जलना, दही का गिरना शुभ या अशुभ, नमक का गिरना, घी का गिरना शुभ या अशुभ, दूध का जलना शुभ या अशुभ,

हिंदू शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि सुबह दूध को देखना शुभ होता है। हिन्दू परिवारों में सुबह-सुबह दूध खरीदना और दूध गर्म करना शुभ माना गया है। यह वास्तु के लिहाज से भी एक अच्छा कार्य है। छिपकली से जुड़े कुछ शकुन

लेकिन यही चंद्रमा यदि बिगड़ जाए या फिर जातक पर हावी हो जाए, तो उसकी जिंदगी को उथल-पुथल कर सकता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चंद्रमा की कमजोर स्थिति के कारण जातक मानसिक विकार का शिकार भी हो जाता है।
वास्तु शास्त्रके अनुसार अगर आपको अपना चंद्रमा मजबूत करना है तो रोज़ाना सुबह रसोईघर में दूध उबालना चाहिए, लेकिन यदि यही दूध उबल जाए और बर्तन से बाहर गिर जाए तो यह अशुभ माना जाता है। (दूध का उफनना)
यह कार्य वास्तु के लिहाज से चंद्रमा को कमजोर बनाता है। जिस घर में रोज़ाना या हर दूसरे दिन गर्म करते समय दूध उबलकर बाहर गिर जाता है, उस घर के लोगों का मानसिक संतुलन स्थिर नहीं रहता।

  1. स्वप्न फल जानिए 1500+ सपनों के फल (स्वप्न फल लाल किताब) सपनो का मतलब

निरंतर चिंता और छोटी-छोटी बात पर परिवार के सदस्यों का एक-दूसरे के प्रति चिड़चिड़ापन आम बात हो जाती है। इसके अलावा रिश्तेदारों से भी मतभेद बढ़ जाते हैं। साथ ही परिवार के सदस्य किसी ना किसी बीमारी का शिकार रहते ही हैं। इसलिए वास्तु के अनुसार कभी भी दूध उबलकर बाहर नहीं गिरना चाहिए। इससे आपका ही नुकसान होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here