Astrology and Spirituality

धन वृद्धि के अनुभूत चमत्कारी मंत्र

धनप्राप्ती मंत्र – संसार में अधिकतर लोगों की यही लालसा रहती है। कि उसके पास अधिक से अधिक धन हो रुपया-पैसा। जमीन जायजाद हो। लेकिन यह कोई जरुरी नहीं है। कि धन की देवी लक्ष्मी हर किसी पर प्रसन्न हो। क्योंकि विधाता ने इस संसार में भेजने से पहले हर व्यक्ति का लेखा-जोखा तैयार करके भेजा है। कि उसको कब, कितना और कैसे मिलेगा।

लेकिन फिर भी लोग ज्यादा पाने की लालसा में बुरे से बुरा कर्म करने से भी नहीं हिचकिचाते। धन इकट्ठा करने के लिए वह चोरी, डकैती, लूट-खसोट, व्याभिचार और ना जाने कितने गलत कार्य करते हैं। लेकिन इससे भी उनको कोई खास लाभ नहीं होता भले ही कुछ देर के लिए उनके पास दौलत आ जाए। लेकिन वह ज्यादा समय तक नहीं टिकता। क्योंकि किसी का भी दिल दुखा कर कमाया गया पैसा कभी भी फलदायी नहीं होता।

प्रारब्ध नसीब

प्रारब्ध को बदला नहीं जा सकता जो नसीब में भगवान ने लिख दिया है। उससे ज्यादा की आशा करना बेकार है। लेकिन मेहनत और लगन से और भगवान की सेवा से इंसान अपने प्रारब्ध को बदल सकता है। धन कमाने की इच्छा सब में है। लेकिन दौलत को कैसे रोका जाए यह कला सबके पास नहीं है। कभी-कभी मेहनत के बावजूद लोगों को गरीबी में जीना पड़ता है। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। इस समस्या के निवारण के लिए हम आपके लिए लेकर आए हैं। कुछ लक्ष्मी प्राप्त करने के चमत्कारी उपाय जिनको भलीभांति सिद्ध करके लाभ ले सकते है।

धन वृद्धि करने का मंत्र

लक्ष्मी प्राप्त करने के चमत्कारी उपाय, धन वृद्धि के अनुभूत चमत्कारी मंत्र

लक्ष्मी प्राप्त करने के चमत्कारी उपाय

लक्ष्मी प्राप्त करने के चमत्कारी उपाय मंत्र  : “ॐ नमो भगवती पदमावी ॐ ह्रीं ॐ ॐ पूर्वाय दक्षिणाय उत्तराय आष पूरय सर्वजन वश्य कुरु कुरु स्वाहा।”

लक्ष्मी मंत्र साधना सिद्धि करने की विधि

इस मंत्र का उपयोग करने से पहले इस मंत्र को पूरे विधि विधान के साथ दीपावली की रात्रि में सिद्ध कर लेना चाहिए।

मंत्र सिद्ध हो जाने के बाद सुबह के समय बिस्तर छोड़ने से पहले 108 बार इस मंत्र का जाप कर।

चारों दिशाओं में 10 10 फूक लगाने चाहिए। ऐसा करने से साधक के पास सभी दिशाओं से धन प्राप्ति या धन वर्षा होने लगती है।

पढ़ें मंत्र को सिद्ध कैसे करें।
पढ़ें

Sending
User Review
0 (0 votes)

Leave a Comment