राजधानी दिल्ली और नोएडा में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की 31वीं बटालियन के करीब 70 जवानों के कोरोना से संक्रमित होने के मामले सामने आए

राजधानी दिल्ली और नोएडा में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की 31वीं बटालियन के करीब 70 जवानों के कोरोना से संक्रमित होने के मामले सामने आए

Hindi News :  कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर देश में लगातार बढ़ता जा रहा है. ऐसे में कोरोना फाइटर्स के भी संक्रमित होने की खबरें लगातार सामने आ रही हैं. पिछले 2 दिन के अंदर राजधानी दिल्ली और नोएडा में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की 31वीं बटालियन के करीब 70 जवानों के कोरोना से संक्रमित होने के मामले सामने आए हैं.

बता दें कि यहां अब तक CRPF के करीब 122 जवानों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है. इससे पहले CRPF की इसी 31वीं बटालियन में पोस्टेड एक जवान की कुछ दिनों पहले मौत हो गई थी.

गौरतलब है कि COVID-19 की वजह से CRPF के जवान की मौत का ये पहला मामला था. ये जवान असम राज्य के मूल का था. दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान इस कोरोना फाइटर की मौत हो गई थी.

CRPF के 70 जवान हुए कोरोना संक्रमित

बता दें कि देश में कोरोना मरीजों की संख्या 37,336 पहुंच गई है. जिनमें से कुल 26,167 कुल एक्टिव मामले हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में 2,293 नए मामले सामने आए हैं जो कि अब तक के दैनिक आंकड़ों के मुकाबले सबसे ज्यादा है. वहीं बीते 24 घंटे में 71 लोगों ने दम तोड़ दिया है.

ये भी पढ़ें- कोरोना वायरस एक बार इंफेक्शन के बाद कितने दिन शरीर में रहता है

कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,218 हो गई है जबकि 9,951 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं. इन सबके बीच सुकून देने वाली बात यह है कि मरीजों के ठीक होने की रफ्तार काफी तेजी से बढ़ रही है. अभी 26.64 प्रतिशत की दर से मरीज रिकवरी कर रहे हैं.

गौरतलब है कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए देशभर में 2 हफ्ते के लिए लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है. अब 17 मई तक लॉकडाउन 3.0 रहेगा. 3 मई को लॉकडाउन का दूसरा चरण खत्म हो रहा था. वहीं, कोरोना संक्रमण के हिसाब देश को तीन जोन में बांट दिया गया है. ग्रीन और ऑरेंज जोन में सरकार ने कई राहतें दी हैं लेकिन रेड जोन में आगे भी सख्ती जारी रहेगी. हवाई-रेल-मेट्रो सेवाएं पूरी तरह बंद रहेंगी.

ये भी पढ़ें-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.