कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है। What Is Computer Hardware

0
8
कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है। What Is Computer Hardware
कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है। What Is Computer Hardware कंप्यूटर जिन पार्ट्स से  मिलकर बनता हैं , या फिर यु कहे कि कंप्यूटर से सम्बन्ध रखने वाले जितने भी डिवाइस होते हैं।  वो सब कंप्यूटर हार्डवेयर के अंतर्गत आते हैं।

कम्प्यूटर हार्डवेयर कम्प्यूटर का भौतिक भाग होता है जिसमें उसके डिजीटल सर्किट (digital circuit) लगे होते हैं जैसा कि कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर से प्रदर्शित होता है और यह हार्डवेयर के अंदर ही रहता है। किसी कंप्यूटर का हार्डवेयर उसके सोफ्टवेयर और हार्डवेयर डाटा की तुलना में यदा-कदा बदल जाता है। ये डाटा महसूस करने में वस्तुपरक नहीं होते हैं और इन्हें तत्काल, संशोधित अथवा मिटाया जा सकता है। फर्मवेयर (Firmware) किसी सोफ्टवेयर की एक विशेष किस्म होती है जिसे जरूरत पड़ने पर बदला जा सकता है और हार्डवेयर यंत्रों पर रक्षित किया जा सकता है जैसे केवल पठन स्मृति (read-only memory) (रोम) जहां इसे तत्काल बदला नहीं जा सकता है (और इसीलिए, वस्तुपरक रहने की तुलना में स्थिर बना दिया जाता है।

अधिकांश कम्प्यूटर सामान्य यूज़र द्वारा नहीं देखे जाते हैं। यह ऑटोमोबाइल, माइक्रोवेव ओवन, इलेक्ट्रोकार्डियोग्राफी मशीन, कोम्पेक्ट डिस्क (compact disc) प्लेयर तथा अन्य यंत्रों में उपयोग की जाने वाली एक एम्बेडेड सिस्टम (embedded systems) है। पर्सनल कम्प्यूटर (Personal computer) ज्यादातर लोगों द्वारा परिचित कम्प्यूटर हार्डवेयर है जो कम्प्यूटरों के केवल लघु परिवार की रचना करता है

हार्डवेयर

एक पर्सनल कम्प्यूटर (personal computer) में एक आवरण (case) अथवा टॉवरनुमा आकृति (डेस्कटॉप) वाला चेसिस तथा निम्नलिखित कलपुर्जे होते हैं:

मदरबोर्ड

 मदरबोर्ड (Motherboard) —

यह ” शरीर ” फ्रेम या कंप्यूटर की है, जिसके जरिए अन्य सभी घटक अंतरफलक होते है।

सेन्ट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (Central processing unit) (CPU) –

Performs most of the calculations which enable a computer to function, sometimes referred to as the “brain” of the computer.

कम्प्यूटर पंखा (Computer fan) —

कम्प्यूटर का तापमान कम करने में प्रयुक्त होता है और एक पंखा सदैव सीपीयू से जुड़ा होता है कम्प्यूटर आवरण में आमतौर पर कई पंखे होते हैं जो निरंतर वायुप्रवाह बनाए रखते हैं। किसी कम्प्यूटर को ठंडा करने के लिए तरल शीतलन इस्तेमाल किया जा सकता है, हालांकि यह चेसिस के अंदर समग्र कलपुर्जों की तुलना में यक्तिगत कलपुर्जों पर केंद्रित रहता है।

रैंडम एक्सेस मेमोरी (Random Access Memory)

(रेम’ — तीव्र एक्सेस मेमोरी उस समय मुक्त कर दी जाती है तब कम्प्यूटर की बिजली को कम कर दिया जाता है। रेम सीधे मदरबोर्ड से जुड़ा होता है, वर्तमान में चल रहे प्रोग्रामों को रक्षित करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

फर्मवेयर (Firmware)

केवल पठन स्मृतिROM (ROM) जो बेसिक इनपुट-आउटपुट (Basic Input-Output System) अथवा (बीआईओएस) जैसी नई प्रणालियों, विस्तारित फर्मवेयर अंतरफलक (Extensible Firmware Interface) के अनुपालन द्वारा कार्यशील होती हैं।

आंतरिक बस (Buses)-

विभिन्न आंतरिक कलपुर्जों के लिए कनेक्टर होते हैं।

  • पीसीआई (PCI)
  • पीसीआई:ई (PCI-E)
  • यूएसबी
  • हाइपर परिवहन (HyperTransport)
  • सीएसआई (CSI) (2008 में आशातीत)
  • एजीपी (AGP) (बाहर जा रहे हैं)
  • वीएलबी (VLB) (पुराने)

बाह्य बस नियंत्रक—बाहरी उपकरणों को जोड़ने में प्रयोग किया जाता है, जैसे प्रिंटर और इनपुट डिवाइस। ये पोर्ट इंटरनल बसों से जुड़े विस्तारक कार्डों पर भी आधारित हो सकती हैं।

  • समांतर पोर्ट (parallel port)
  • सीरियल पोर्ट (serial port)
  • यूएसबी
  • फायरवायर (firewire)
  • एससीएसआई (SCSI) (सर्वर और पुरानी मशीनों पर)

पी एस / 2 (PS/2) (माउस और कीबोर्ड के लिए, इन्हें योजनाबद्ध ढंग से बाहर किया जा रहा है और इनके स्थान पर यूएसबी का उपयोग किया जाएगा।)

  • आईएसए (ISA) (पुराने)
  • ईआईएसए (EISA) (पुराने)
  • एमसीए (MCA) (पुराने)

विद्युत आपूर्ति

एक अवरण नियंत्रक और (प्राय:) एक शीतल पंखा होता है जो शेष कम.प्यूटर को प्रचालित करने के लिए बिजली प्रदान करता है, सर्वाधिक उपयोग में लाई जाने वाली विद्युत प्रणालियों में एटी तथा बेबीएटी (पुरानी) हैं किंतु पीसी के लिए मानक प्रणालियों में एटीएक्स और माइक्रो एटीएक्स हैं।

भंडारण नियंत्रक

हार्ड डिस्क (hard disk) के लिए नियंत्रक, सीडी-रोम (CD-ROM) तथा एक पीसी के लिए परंम्रागत रूप से कुछ अन्य यंत्र जैसे जिप (Zip) और जाज (Jaz) आदि आईडीई (IDE), एटीएहोते हैं तथा नियंत्रक सीधे मदरबोर्ड (ऑन-बोर्ड) अथवा किसी विस्तारक कार्ड जैसे डिस्क एरे (Disk array controller) नियंत्रक पर बैठते हैं। आईडीई (IDE) प्राय: एससीएसआई (SCSI)लघु कम्प्यूटर प्रणाली अंतर-फलक जैसे होते हैं जो ज्यादातर सर्वर (servers) में पाए जाते हैं। फ्लोपी ड्राईव अंतर-फलक एक उत्तराधिकार में प्राप्त एमएफएम (MFM) अंतर-फलक है जो धीरे-धीरे विलुप्त हो रही है। ये सभी अंतर-फलक धीरे-धीरे उपयोग से बाहर किए जा रहे हैं और इनके स्थान पर एसएटीए (SATA) तथा एसएएस (SAS) लाए जा रहे हैं।

वीडियो प्रदर्शन नियंत्रक

उत्पादों के उत्पादन के लिए दृश्य प्रदर्श इकाई (visual display unit).इसे या तो मदरबोर्ड के अंदर ही निर्मित किया जाएगा या इसकी अपनी अलग स्लॉट (पीसीआई, पीसीआई-ई 2;0 अथवा एजीपी) के साथ ग्राफिक्स कार्ड (Graphics Card) के रूप में जोड़ दिया जाएगा।

हटाने योग्य मीडिया यंत्र

  • सीडी (CD) (कोम्पेक्ट डिस्क)-हटाने योग्य मीडिया की सबसे साधारण किस्म जो महंगी तो है किंतु इसकी जीवनावधि कम होती है।
  • सीडी-रोम ड्राईव (CD-ROM Drive) – सीडी से डाटा पढ़ने में प्रयुक्त किया जाने वाला यंत्र
  • सीडी-राइटर (CD Writer) – सीडी से डाटा पढ़ने एवं लिखने दोनों में प्रयुक्त किया जाने वाला यंत्र
  • डीवीडी (DVD)(डिजीटल परिवर्तनीय डिस्क – हटाए जाने योग्य मीडिया की एक लोकप्रिय किस्म जिसके एक सीडी जैसे ही परिमाप होते हैं किंतु यह उससे 6 गुणा अधिक सूचना रक्षित करती है। डिजिटल वीडियो के हस्तांतरण का यह सबसे आम तरीका है।
  • डीवीडी-रोम (DVD-ROM Drive) – डीवीडी से डाटा पढ़ने में प्रयुक्त किया जाने वाला यंत्र
  • डीवीडी- राइटर (DVD Writer) – डीवीडी से डाटा पढ़ने एवं लिखने दोनों में प्रयुक्त किया जाने वाला यंत्र
  • डीवीडी-रेम ड्राईव (DVD-RAM Drive) – विशेष किस्म की डीवीडी से डाटा पढ़ने एवं लिखने दोनों में प्रयुक्त किया जाने वाला यंत्र
    ब्लू रे (Blu-ray)- उच्ृ परिभाषा वाले वीडियो सहित डिजीटल सूचनाओं के भंडारण हेतु एक उच्च घनत्व वाला आप्टीकल डिस्क प्रारूप।
  • बीडी-रोम ड्राईव (BD-ROM Drive) – ब्लू रे डिस्क से डाटा पढ़ने में प्रयुक्त किया जाने वाला यंत्र
  • बीडी राइटर (BD Writer) – ब्लू रे डिस्क से डाटा पढ़ने एवं लिखने दोनों में प्रयुक्त किया जाने वाला यंत्र
  • एचडी-डीवीडी (HD DVD)-उच्च घनत्व वाला ऑप्टीकल डिस्क प्रारूप एवं मानक डीवीडी का उत्तराधिकारी। यह ब्लू रे प्रारूप के प्रति एक अवरूद्ध प्रतियोगी था।
  • फ्लॉपी डिस्क (Floppy disk) — सूचनाओं को रक्षित करने वाला एक यंत्र जो अब पुराना हो गया है। यह आकार में लचीली चुंबकीय धातु वाला एक भंडारण माध्यम है।
  • ज़िप ड्राइव (Zip drive) –मध्यम क्षमता की हटाई जाने वाली डिस्क भंडारण प्रणाली जिसे सर्वप्रथम 1994 में लोमेगा ने प्रचलित किया था।
  • यूएसबी फ्लेश ड्राईव (USB flash drive)- यह एक फ्लेश मेमोरी डाटा भंडारण का यंत् है जो यूएसबी अंतर-फलक के साथ लगा रहता है देखने में छोटा, हल्का, हटाने योग्य और पुन: लिखने योग्य होता है।
  • टेप ड्राईव (Tape drive)-एक ऐसा यंत्र जो दीर्घकालीन डाटा भंडारण के लिए चुम्बकीय टेप पर डाटा को पढने एवं लिखने में काम आता है।

आंतरिक भंडारण

हार्डवेयर जो बाद में उपयोग हेतु कम्प्यूटर के अंदर डाटा रखता है और कम्प्यूटर की बिजली चले जाने पर भी विद्यमान रहता है।

  • हार्ड डिस्क (Hard disk) — मध्यावधि के लिए डाटा भंडारण का उपकरण
  • ठोस अवस्था ड्राईव (Solid-state drive)- हार्ड डिस्क जैसा एक यंत्र किंतु इसमें गतिशील कलपुर्जें नहीं होते हैं।
  • डिस्क एरे नियंत्रक (Disk array controller) – एक साथ कई हार्ड डिस्कों को व्यवस्थित करने वाला यंत्र जिससे कार्यक्षमता अथवा विश्‍वसनीयता में सुधार की प्राप्तिी होती है।

ध्वनि कार्ड

ऑडियो यंत्रों के साथ कम्प्यूटर को आउटपुट ध्वनि ‍ प्रदान करने में सक्षम बनाना तथा माइक्रोफोन (microphone) इनपुट स्वीकार करना। ज्यादातर कम्प्यूटरों में मदरबोर्ड के अंदर ही बिल्ट-इन-कार्ड होते हैं हालांकि यूज़र के लिए को अपग्रेड करने के लिए अलग से ध्वनि ‍कार्ड लगाना आम बात होती है।

नेटवर्किंग

कंप्यूटर इंटरनेट और / या अन्य कंप्यूटरों को जोड़ता है

  • मॉडेम (Modem) — डायल अप कनेक्शन के लिए
  • नेटवर्क कार्ड (Network card) — डीएसएल / केबल इंटरनेट और / या अन्य कंप्यूटरों को जोड़ने के लिए उपयोग किया जाता है।.
  • डायरेक्ट केबल कनेक्शन (Direct Cable Connection)- दो कम्प्यूटरों को जोड़ने वाली एक बेकार मोडेम (null modem) का उपयोग जिसमें उनके सीरियल पोर्ट अथवा लेपलिंक केबल (Laplink Cable) का एकसाथ उपयोग किया जाता है। इस प्रकार दो कम्प्यूटर उनके समांतर पोर्ट द्वारा एकसाथ जोड़ दिए जाते हैं।
  • डायल अप कनेक्शन ब्रॉड बैंड कनेक्शन

अन्य बाह्य

इसके अतिरिक्त, एक कम्प्यूटर प्रणाली के बाहरी कलपुर्जों को हार्डवेयर यंत्रों में शामिल किया जा सकता है। निम्नलिखित या तो मानक है या अत्यधिक साधारण हैं।

व्हील माउस

इसमें विभिन्न इनपुट (input) और आउटपुट (output) उपकरणों, आमतौर पर कम्प्यूटर प्रणाली के बाहरी

इनपुट

Text (Text) input devices कीबोर्ड (Keyboard)- टाइप राइटर की तरह बटन दबाकर (बटनों के बारे में ऊपर बताया गया है) शब्द और करेक्टर लिखने के लिए उपयोग किया जाने वाला यंत्र है। अंग्रेजी भाषा के सबसे सामान्य कुंजी लेआउट है QWERTY (QWERTY) लेआउट है।

संकेतन यंत्र (Pointing device)s

  • माउस (Mouse)- एक संकेतक यंत्र जो इसके सहयोगी धरातल के सदर्श दो परिमाप वाली गतियों की पहचान करती है।
  • ट्रैकबॉल (Trackball) — एक संकेतन यंत्र जिसमें साकेट के अंदर उभरा हुआ एकहोता है जो दोनों अक्षों के बारे में घूर्णन की पहचान करता है।
  • एक्स बॉक्स 360 नियंत्रक (Xbox 360 Controller) – एक्सबॉक्स ३६० को नियंत्रित करने के लिए प्रयुक्त एक यंत्र जो स्विचब्लेड (टीएम) अनुप्रयोग के उपयोग द्वारा बायें अथवा दायें अगूंठे की सहायता से अतिरिक्त संकेतक के रूप में प्रयोग किया जा सकता है।

गेमिंग (Gaming) डिवाइस

  • जॉयस्टिक (Joystick)- नियंत्रण करने वाला एक सामान्य यंत्र जिसमें हाथ में पकड़ी जाने वाली एक छड़ी होती है जो इसके एक किनारे पर दो या तीन परिमाप वाले कोणों की पहचान करने के लिए धुरी का कार्य करती है।
  • गेमपेड (Gamepad)- हाथ में पकड़ने वाला एक सामान्य खेल नियंत्रक जो इनपुट प्रदान करने के लिए अंकों पर (विशेष रूप से अंगूठो) पर निर्भर रहता है।
  • खेल नियंत्रक (Game controller)- कुछ निश्चित खेल उद्देश्‍यों के लिए विशेष प्रकार से निर्मित नियंत्रक की विशिष्‍ट किस्म
    छवि (Image), वीडियो (Video) इनपुट डिवाइस
  • छवि स्कैनर (Image scanner)- छवि, प्रिंट किए हुए लेख, हस्‍तलेख अथवा किसी वस्तु को विश्‍लेषित कर इनपुट प्रदान करने वाला एक यंत्र।
  • वेबकैम (Webcam)- यह जो विज़ुअल इनपुट प्रदान करने के लिए अल्प ध्‍वनि वाला वीडियो कैमरा होता है। इस इनपुट को आसानी से इंटरनेट पर हस्तांतरित किया जा सकता है।

ऑडियो (Audio) इनपुट डिवाइस

माइक्रोफोन (Microphone)- ध्‍वनि संवेदक जो आवाज़ को बिद्युत संकेतों में बदलने के लिए इनपुट प्रदान करता है।

आउटपुट

  • छवि (Image), वीडियो (Video) आउटपुट डिवाइस
  • प्रिंटर (Printer)
  • मॉनिटर (Monitor)
  • ऑडियो (Audio) इनपुट डिवाइस
  • स्पीकर (Speakers)
  • हैडसैट (Headset)

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here