चेहरे से मुंहासे हटाने के उपाय – Home remedies to remove pimples

अगर आप चेहरे से मुंहासे हटाने के बारे में सोचे बिना Creams और toothpaste लगाने जैसे Home remedies अपना रहे हैं, तो जान लें कि इन चीजों के इस्तेमाल से कुछ भी Benefits नहीं होगा। बेहतर है कि आप पहले Face पर pimples होने का कारण जानें और फिर उसके अनुसार Acne का इलाज अपनाएं। इस लेख में, हम आपको महिलाओं में चेहरे पर कील मुंहासे होने के कारण और मुंहासे क्यों निकलते हैं, हटाने का उपाय के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं।

एक किशोर के रूप में, जब लड़कियां फिल्मों और पत्रिकाओं में नायिकाओं के बेदाग चेहरे की तस्वीरें देखती हैं, तो वे खुद के बारे में सोचती हैं। दरअसल, हमारे समाज में, लोगों ने फेसलेस का चेहरा बना लिया है, जो कि गलत है, और यही कारण है कि जब लड़कियां किशोरावस्था में पहुंचती हैं, तो एक दाना मिलने के बाद भी वे तनाव में रहती हैं। जबकि इस उम्र में मुँहासे होना काफी सामान्य है।

ज्यादातर लड़कियां 20 साल की उम्र के बाद सोचती हैं कि अब इन कैसे पिंपल्स से छुटकारा पाएं। लेकिन क्या सच में ऐसा है? नहीं… इस उम्र के बाद आपको मुंहासे हो सकते हैं, 30 की उम्र के बाद भी मुंहासों की समस्या हो सकती है। महिलाओं में मुँहासे मुख्य रूप से हार्मोनल गड़बड़ी के कारण होते  है। इन्हें एडल्ट एक्ने कहा जाता है। चेहरे पर फुंसियों के कारण महिलाओं को लगने लगता है कि यह उनकी सुंदरता को बिगाड़ रहा है और मुहासे का ट्रीटमेंट करने लगती  है। पिंपल्स के कारण महिलाओं का आत्मविश्वास कमजोर होने लगता है और कई महिलाएं लोगों से मिलने या ऑफिस जाने की संभावना कम कर देती हैं।

चेहरे पर मुंहासे क्यों निकलते हैं? Pimples Cause

वैसे, किसी भी उम्र में मुंहासे के पीछे दो कारण होते हैं, पहला, त्वचा अधिक तैलीय होना और दूसरा बैक्टीरिया। तनाव, गंदगी या छिद्रों का  भरना भी  पिंपल्स के कारण हो सकते हैं। इसके अलावा, ज्यादातर महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन के स्तर में बदलाव या हार्मोन में व्यवधान भी मुंहासों का मुख्य कारण है।

मुँहासे के होने के लक्षण (pimple syptoms in Hindi)

महिलाओं में दिखने वाला दाना किशोर मुँहासे से थोड़ा अलग है। इस उम्र में निकलने वाले पिंपल शुरू में छोटे लाल रंग के दाने की तरह दिखते हैं और फिर धीरे-धीरे बड़े हो जाते हैं। कुछ महिलाओं में, ये फुंसियां छोटी गांठों के रूप में निकलती हैं और बाद में एक कील बन जाती हैं। (चेहरे के लिए बेकिंग सोडा के फायदे)

  • ये कील मुंहासे कई दिनों तक चेहरे पर मौजूद रहते हैं और अगर इन पर खरोंच पड़ जाए या बिना छाने रह जाए तो ये दाग छोड़ जाते हैं।
  • कई बार चेहरे पर मौजूद Whiteheadsऔर Blackheads भी मुंहासे हो जाते हैं।
  • कुछ महिलाओं में  गाल पर मुँहासे ठोड़ी पर अधिक होती है।

 मुँहासे होने के मुख्य कारण

 

हर किसी के चेहरे पर मुंहासे अलग-अलग कारणों से सामने आते हैं। यह जरूरी नहीं है कि आपके साथी या दोस्त को भी मुंहासे निकले हों जिसके कारण आपको हो रहे हों। उदाहरण के लिए, नम वातावरण में, कुछ लड़कियों के फेस पर दाने होते हैं, जबकि मौसम का उनके साथ रहने वालों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। इसलिए पहले Acne का सही कारण जान लें और फिर उसका इलाज करें। Acne आमतौर पर निम्नलिखित कारणों से वयस्कों में होता है।

हार्मोनल परिवर्तन से एक्ने

आमतौर पर मासिक धर्म, गर्भावस्था के दौरान, बच्चे के जन्म और स्तनपान के कुछ हफ्तों बाद, महिलाओं के शरीर में हार्मोन तेजी से बदलते हैं और यही कारण है कि इस अवधि के दौरान महिलाओं में मुँहासे की समस्या बढ़ जाती है। वास्तव में, हार्मोन में बदलाव के कारण, त्वचा का पीएच संतुलन बिगड़ जाता है और त्वचा में तेल का उत्पादन बढ़ जाता है, जिसके परिणामस्वरूप मुँहासे होते हैं। अगर आप हार्मोन में व्यवधान के कारण मुंहासे हो रहे हैं, तो मुंहासों पर क्रीम या कोई घरेलू उपाय लगाने से वे ठीक नहीं होंगे। ऐसी परिस्थितियों में, आपको त्वचा विशेषज्ञ से संपर्क करना चाहिए।

Acne पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) के कारण

ऐसा नहीं है कि महिलाओं के शरीर में हार्मोन का स्तर केवल मासिक धर्म या गर्भावस्था के दौरान बिगड़ता है, बल्कि अगर आप पीसीओएस से पीड़ित हैं, तो भी आपके शरीर में हार्मोन असंतुलन की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। आज ज्यादातर महिलाएं पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम से पीड़ित हैं। इस बीमारी के कारण महिलाओं के शरीर में पुरुषों के हार्मोन बढ़ जाते हैं, जिससे त्वचा में तेल का उत्पादन बढ़ जाता है और त्वचा तैलीय होने के कारण मुंहासे निकलने लगते हैं। [२]

तनाव लेने से भी मुहासे होते है

क्या आप जानते हैं कि तनाव के कारण शरीर में कई हार्मोनों का चक्र गड़बड़ा जाता है? जब आप बहुत अधिक तनाव या भय के दौर से गुजर रहे होते हैं, तो इस दौरान, तनाव हार्मोन (कोर्टिसोल) अधिवृक्क ग्रंथि से अधिक मात्रा में उत्पन्न होता है और यह त्वचा के असंतुलन के कारण मुँहासे का कारण बनता है। यह वयस्कों में मुँहासे का एक प्रमुख कारण भी है। इसलिए योग और ध्यान की मदद से तनाव कम करें और खुश रहें।

 धूम्रपान की वजह से भी एक्ने

सिगरेट पीना स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक है और आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि धूम्रपान के कारण भी दाने निकल आते हैं। एक शोध में यह बात सामने आई है कि एलर्जी और माइग्रेन से पीड़ित लोग और जो लोग धूम्रपान करते हैं उनमें मुहांसे होने की संभावना काफी अधिक होती है। [१] इसलिए धूम्रपान से बचें।

एक्ने होने में प्रदूषण का योगदान

जिस स्थान पर आप रह रहे हैं वहां का मौसम अचानक बदल जाता है, या बहुत उमस और गर्म वातावरण में रहने के कारण मुंहासे निकलने लगते हैं। वास्तव में, हमारे वातावरण में हवा में कई हानिकारक रसायन पाए जाते हैं और जब वे आपकी त्वचा के संपर्क में आते हैं, तो इससे जलन और खुजली होती है, साथ ही ये रसायन त्वचा को संक्रमित कर देते हैं और नाखून – मेरे पास से निकल जाते हैं। इसलिए अत्यधिक प्रदूषित स्थानों पर जाने से बचें और अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो त्वचा को रूमाल से ढकें और बाहर निकलें।

रोम  छिद्रों का बंद होना भी मुहासों की वजह

त्वचा के छिद्रों का खुला होना बहुत जरूरी है क्योंकि आपकी त्वचा इन छिद्रों की मदद से सांस लेती है। वातावरण में मौजूद धूल, गंदगी और मृत त्वचा कोशिकाएं इन छिद्रों को बंद कर देती हैं और हवा में मौजूद बैक्टीरिया से संक्रमित हो जाती हैं। संक्रमण के कारण, उनके ऊपर एक परत बन जाती है और बाद में ये नाखून मुँहासे में बदल जाते हैं। रोम छिद्र बंद करने के लिए सप्ताह में एक बार चेहरे को स्क्रब

गलत खाने पीने से एक्ने की समस्या

तनाव और हार्मोनल बदलाव के अलावा, आपका गलत खाना भी मुंहासों के लिए जिम्मेदार है। कुछ लोग तली-भुनी और गरिष्ठ चीजें ज्यादा खाते हैं। ऐसी चीजें शरीर की गर्मी बढ़ाती हैं और फिर इनकी वजह से पिंपल्स निकलने लगते हैं। इससे बचने का सीधा तरीका आहार में पौष्टिक चीजों जैसे फल, हरी सब्जियां आदि का सेवन बढ़ाना है।

केमिकल युक्त ब्यूटी क्रीम से भी मुहासे होते है

चेहरे की खूबसूरती हर किसी को पसंद होती है और इसकी देखभाल करना अच्छी बात है। कई बार ऐसा होता है कि महिलाएं अपने दोस्त द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले ब्यूटी प्रोडक्ट से प्रभावित होती हैं और खुद इसका इस्तेमाल करने लगती हैं और फिर उन्हें मुंहासे हो जाते हैं। दरअसल, हर महिला की त्वचा का प्रकार अलग होता है और यह बिल्कुल भी जरूरी नहीं है कि जो उत्पाद आपके दोस्त के लिए अच्छा हो वह आपके लिए भी अच्छा हो। कुछ उत्पादों में ऐसे रसायन हो सकते हैं जिनसे आपको एलर्जी हो सकती है और उन्हें लगाने से मुँहासे दूर हो सकते हैं। इसलिए अपने लिए गलत उत्पाद का चयन न करें, लेकिन उपयोग करने से पहले एक बार पैच टेस्ट कर लें और फिर इसका उपयोग करें।

चेहरे से मुंहासे हटाने के कुछ घरेलू उपाय

मुंहासे से छुटकारा पाने के बाद, ज्यादातर लड़कियां इंटरनेट पर (How to get rid of acne ‘or’ acne medicine) ‘ मुंहासे से छुटकारा कैसे पाएं ’या ‘मुंहासे की दवा’ खोजना शुरू कर देती हैं। यह जरूरी नहीं है कि इंटरनेट पर दी गई हर जानकारी सही हो। यद्यपि आप मुहांसों से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार का उपयोग कर सकते हैं, लेकिन अगर आपको बार-बार मुंहासे हो रहे हैं, तो त्वचा विशेषज्ञ के पास जाना और अपना इलाज करवाना बेहतर है। (ठनका पाउडर – Thanaka powder benefits in hindi)

हल्दी के इस्तेमाल से मुँहासों से मिले छुटकारा (Turmeric : Home remedies for Pimples in Hindi)

Turmeric

हल्दी का इस्तेमाल करना मुहांसे दूर करने का काफी प्रचलित घरेलू नुस्खा (pimples ka gharelu ilaj in hindi) है। हल्दी 1/2-1/4 चम्मच , एक छोटा चम्मच चन्दन पाउडर के साथ मिलाकर गुलाब जल या सादे पानी में घोलकर एक गाढ़ा पेस्ट बनाकर चेहरे में मास्क के रूप में आधा घण्टे तक लगाकर सादे पानी से धो लें। अगर त्वचा रूखी है तो मास्क धूलने के बाद चेहरे पर गुलाब जल लगा लें। हल्दी में प्रकृति रूप में एन्टीबैक्टिरीयल और एन्टी इंफ्लैमटोरी गुण पाये जाते हैं। (ग्लोइंग स्किन के लिए बेकिंग सोडा)

गुलाबजल का मिश्रण मुहांसों से दिलाए छुटकारा (Rose water : Gharelu Upay for Pimples in Hindi)

Rose water

100 मि.ली.गुलाबजल, 50 मि.ली. नींबू का रस, 20 मि.ली.ग्लिसरीन और 20 मि.ली. खीरे का जूस एक साथ मिलाकर काँच की एक बोतल में भरकर रख ले। रोज रात में चेहरे को सादे पानी से धोकर पोंछ ले। फिर इस मिश्रण को चेहरे पर रात भर लगाकर छोड़ दे और सुबह चेहरे को सादे पानी से धो ले। तीन हफ्तों तक इसका प्रयोग करने से त्वचा के दाग, धब्बे, मुँहासे पूरी तरह खत्म हो जाते हैं और चेहरे की रंगत में निखार आता है।

नीम के इस्तेमाल से मुँहासें होंगे कम (Neem powder : Home remedies for Pimples in Hindi)

नीम का पेस्ट बनाने के लिए 10-15 नीम के पत्ते, 1 छोटा चम्मच चंदन का पाउडर और 1/4 चम्मच हल्दी का पाउडर एक साथ मिला लें। नीम के पत्तों को अच्छी तरह से साफ कर लें फिर नीम के पत्तों के साथ चन्दन पाउडर व हल्दी को मिलाकर इनको पीसकर अच्छे से इनका पेस्ट बनाकर चेहरे पर मास्क की तरह आधे घण्टें तक लगाकर रखे फिर चेहरे को सादे पानी से अच्छे से धो ले। यह पेस्ट रोज दो हफ्तों तक लगाने से मुँहासे खत्म हो जाते हैं क्योंकि नीम में एन्टी बैक्टिरीयल गुण पाये जाते हैं। यह मुंहासे दूर करने का असरदार घरेलू उपाय (Gharelu upay for pimples in Hindi) है।

दालचीनी मुँहासों के लिए फायदेमंद (Pimples ka gharelu ilaj hai Dalchini)

दाल चीनी मुँहासों के लिए घरेलू नुस्खा (home remedies for pimples) बहुत लाभकारी साबित हुई है। दाल चीनी का पाउडर आधा छोटा चम्मच या आवश्यकतानुसार ले और शहद के साथ मिक्स करके पेस्ट बना ले फिर पेस्ट को सिर्फ जहाँ मुँहासे या दाने हो वहाँ पर रात भर लगाकर सो जाए। सुबह उठकर ताजे पानी से चेहरे को धुल लें। दालचीनी का प्रयोग खाने मे भी करना चाहिए क्योंकि इसमें तिक्त गुण होते हैं, जो शरीर के ब्लड शूगर और इन्सूलिन को कम करते हैं और चेहरे के रोम छिद्र को खोलने में मदद कर देते हैं। (डार्क स्पॉट, चेहरे के दाग धब्बे के लिए गोरा होने की क्रीम का नाम)

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए In Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here