आईब्रो यानी भौहों के फड़कने का क्या है मतलब

हमारे शरीर में आंख सबसे अधिक फड़कती है, लोग इसे लेकर शुभ-अशुभ जानने के लिए व्याकुल रहते हैं। समुद्र शास्त्र के अनुसार, स्त्री या पुरुष की भौंहों यानी कि आईब्रो के फड़कने का कोई ना कोई अर्थ जरूर होता है और ये हमें भविष्य में घटनेवाली घटनाओं को लेकर सूचित करते है। आईब्रो के फड़कने से ना सिर्फ आप केवल अपनी आर्थिक स्थिति के बारे में जान सकते हैं बल्कि विवाह और दूसरे कई अन्य विषयों के बारे में भी जान सकते हैं। आइए जानते हैं आईब्रो यानी भौहों के फड़कने का क्या है मतलब।

1. यदि दोनों भौंह के बीच का स्थान फड़के तो प्रेम मिलता है।

2. दोनों भौहें फड़कें तो व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पर्ण्ूा होती है।

3. दाहिनी आंख का मध्य भाग फड़के तो व्यक्ति अपने लक्ष्य को प्राप्त कर धन अर्जित कर लेता है।

4. दाहिनी आंख चारो तरफ से फड़के तो व्यक्ति के रागी होने की संभावना रहती है।

5. बायंी आखां का फड़कना स्त्री से दुख का, वियोग का लक्षण है।

6. बांयी आंख चारो ओर से फड़कने लगे तो विवाह के योग बनते हैं।

7. आँख सबसे अधिक फड़कती है लोग शुभ-अशुभ जानने के लिए व्याकुल रहते है.दायीं आँख ऊपर की ओर के फलक में फड़कती है तो धन,कीर्ति आदि की वृद्धि होती है.नौकरी में पदोन्नति होती है नीचे का फलक फड़कता है तो अशुभ होने की संभावना रहती है.

8. बाँयी आँख का उपरी फलक फड़कता है तो दुश्मन से और अधिक दुश्मनी हो सकती है.नीचे का फलक फड़कता है तो किसी से बेवजह बहस हो सकती है और अपमानित होना पड़ सकता है.

9. बाँयी आँख की नाक की ओर का कोना फड़कता है जिसका फल शुभ होता है.पुत्र प्राप्ति की सूचना मिल सकती है.या किसी प्रिय व्यक्ति से मुलाक़ात हो सकती है.

10. दांयी आँख फड़कती है तो यह शुभ फलदायक होता है.लेकिन अगर किसी स्त्री की दांयी आँख फड़कती है तो उसे अशुभ माना जाता है.

11. दोनों आँखे एक साथ फड़कती हो तो चाहे वह स्त्री की हो या पुरुष की, उनका फल एक जैसा ही होता है. किसी बिछुड़े हुए अच्छे मित्र से मुलाक़ात हो सकती है.

12. दांयी आँख पीछे की ओर फड़कती है तो इसका फल अशुभ होता है. बाँयी आँख ऊपर की और फड़कती हो तो इसका फल शुभ होता है.स्त्री की बाँयी आँख फड़कती हो तो शुभ फल होता है.

आप हमसे  Facebook, +google, Instagram, twitter, Pinterest और पर भी जुड़ सकते है ताकि आपको नयी पोस्ट की जानकारी आसानी से मिल सके।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.