अंगूर के फायदे और लाभ – Angoor (Grapes) khane ke fayde

Angoor (Grapes) khane ke fayde – अंगूर एक फल है। अंगूर एक बलवर्द्धक एवं सौन्दर्यवर्धक फल है। अंगूर फल माँ के दूध के समान पोषक है। फलों में ग्रपेस सर्वोत्तम माना जाता है। यह निर्बल-सबल, स्वस्थ-अस्वस्थ आदि सभी के लिए समान उपयोगी होता है। ये अंगूर की बेलों पर बड़े-बड़े गुच्छों में उगता है। अंगूर सीधे खाया भी जा सकता है, या फिर उससे अंगूरी शराब भी बनायी जा सकती है, यह अंगूर के रस का ख़मीरीकरण करके बनायी जाती है। जिसे हाला (अंग्रेज़ी में “वाइन”) कहते हैं,
संस्कृत में अंगूर को द्राक्षा कहते है। 
Grape Nutrition Facts – अंगुर पोषक तत्व
[table id=39 /]

अंगूर से रोगों का उपचार – Surprising Health Benefits of Grapes
अंगूर से रोगों का उपचार - Surprising Health Benefits of Grapes

अंगूर चिकित्सा को एम्पिलोथेरेपी (यानि “वाइन”) के नाम से भी जाना जाता है। यह नैसर्गिक चिकित्सा या वैकल्पिक चिकित्सा का एक रूप है, जिसमें अंगूरों का बहुत अधिक मात्रा में उपयोग किया जाता है, इसमें अंगूर के बीज, फल और पत्तियों का उपयोग किया जाता है I यद्यपि स्वास्थ्य प्रयोजनों में ग्रपेस के उपभोग से सकारात्मक लाभ के कुछ सीमित प्रमाण ही हैं, किन्तु कुछ चरम दावे भी हैं, जैसे कि ग्रपेस चिकित्सा द्वारा, कैंसर का इलाज संभव है लेकिन ये दावे महज़ नीमहकीमों के व्यंग्यात्मक दावे हैं।
 

बालचर

10 ग्राम किसमिस 3 ग्राम आंवला दोनों को पानी में डालकर रात के समय सेवन करना चाहिए।

सूखी खांसी – Dry coughसूखी खांसी - Dry cough

बादाम गिरी, मुलेठी, मुनक्का सभी 10 ग्राम लेकर इनको पीस लें। और पीसकर चने के बराबर गोली बना लें। अब दो-दो गोली दिन में दो बार चूसे। इससे सूखी खांसी में आराम मिलता है।

अंगूर का रस आंख के लिए

अंगूर का रस कलाई के बर्तन में आग पर पकाकर गाढ़ा होने पर शीशी में भर लें। ठंडा होने पर इसे आंखों में लगाएं। इससे आंखों की खारिश और बाल झड़ना बंद हो जाता है।

angur ke fayde
angur ke fayde

 ‎अंगूर का जूस नकसीर के लिए

नकसीर होने पर मीठे अंगूर का रस नाक में डालने से फायदा मिलता है।

स्त्रियों के लिए

अंगूर का रस 20 ग्राम की मात्रा में रोजाना जल के साथ लेने से कई तरह की बीमारी जैसे कब्ज, सिर दर्द, चक्कर आना, पेट फूलना, आदि दूर होते हैं।

किशमिश के फायदे दिल की कमजोरी – Heart weaknessकिशमिश के फायदे

दिल की कमजोरी दूर करने के लिए 20 ग्राम किशमिश एक रत्ती केसर किसी मिट्टी के पात्र में सौ ग्राम पानी मिलाकर रात में ओस में रख दें। और अगले दिन किशमिश को खा लें यह क्रिया लगातार 8 दिनों तक करें। दिल की कमजोरी में फायदा मिलता है।

कान में मवाद का बहना – Kan me mawad bahana upchar

10 ग्राम सरसों के तेल में 3 ग्राम बोरिक मिलाकर दिन में तीन से चार बार डालने से कान से मवाद बहना बंद हो जाता है।

मिर्गी रोग के उपचार Mirgi rog upcharमिर्गी रोग के उपचार Mirgi rog upchar

10 ग्राम अकरकरा और 2 ग्राम मुनक्का दोनों को बारीक़ अलग अलग पीस लें। और मंजन की तरह बना लें। मुनक्का को पीसने से पहले उनके बीजों को निकाल देना चाहिए। अब 6 ग्राम की मात्रा में दिन के समय दूध के साथ इसका इस्तेमाल करें। यह प्रयोग लगातार 15 से 20 दिन करने से मिर्गी रोग में लाभ मिलता है।

अंगूर की बेल के पत्ते गुर्दे में दर्द होने परअंगूर की बेल के पत्ते

गुर्दे में दर्द होने पर अंगूर की बेल के पत्ते एक छटांक पानी के साथ पीसकर उसमें थोड़ा सा लाहौरी नमक मिलाकर शरबत की तरह पीना चाहिए। इससे गुर्दे के दर्द में राहत मिलती है।

केले से रोगों का उपचार – Benefits of Banana for Health and Disease Treatment

दिल का दर्द – heart ache
2 केले के साथ 10 ग्राम शहद डालकर खाने से दिल के दर्द में आराम मिलता है।
आंतो के रोग में – Intestinal disease
दो केला आधा पाव दही के साथ खाने से दस्त, पेचिश, संग्रहणी रोग ठीक हो जाता है।
मुंह के छाले – Mouth ulcers
मुंह के छाले होने पर गाय के दही के साथ केला खाने से मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं।
नकसीर रोग – Nasal disease
नाक से खून आने पर एक पका केला शक्कर मिले दूध के साथ लगातार 8 दिन तक खाना चाहिए। इससे नाक से खून आना यानी नकसीर रोग ठीक हो जाता है।
मोटा होने के लिए – To be fat
मोटा होने के लिए 1 महीने तक लगातार, यदि दो केले खाकर ऊपर से ढाई सौ ग्राम मीठा दूध पीना चाहिए। इससे शरीर में खून बढ़कर शरीर मोटा होने लगता हैं।
Search Tags :  angur ke beej ke fayde | angoor ki taseer | angoor ka juice in hindi | benefits of grapes in hindi language.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here