अजीनोमोटो क्या है जानिए इसके फायदे और नुकसान – Ajinomoto (MSG) side effects in hindi

Ajinomoto Kya Hota Hai in Hindi  What is the Meaning of Ajinomoto in Hindi? Is Ajinomoto safe to eat? What are the side effects of ajinomoto?

अजीनोमोटो को संक्षिप्त रूप में MSG भी बुलाया जाता है। इस पदार्थ का उपयोग भोजन का स्वाद बढ़ाने हेतु किया जाता है। अधिकतर चाइनीस व्यंजन में इस पदार्थ का उपयोग किया जाता है। अजिनोमोटो के उपयोग से कई तरह की शारीरिक और मानसिक समस्याएं सिर उठा सकती हैं। जिनके बारे में निचे बताया गया है।

Msg can cause Knee pain in hindi

अजीनोमोटो का इतिहास (What is Ajinomoto history in hindi)

अजीनोमोटो को पहली बार 1909 में जापानी जैव रसायनज्ञ किकुनाए इकेडा के द्वारा खोजा गया था. उन्होने इसके स्वाद को मामी के रूप में पहचाना जिसका अर्थ होता है सुखद स्वाद. कई जापानी सूप में इसका इस्तेमाल होता है. इसका स्वाद थोडा नमक के जैसा होता है. देखने में यह चमकीले छोटे क्रिस्टल के जैसा होता है. इसमें प्राकृतिक रूप से एमिनो एसिड पाया जाता है.

अजीनोमोटो के लाभ (Ajinomoto benefit in hindi)

कुछ खाद्य पदार्थो में प्राकृतिक रूप से ग्लूटामेट पाया जाता है जैसे टमाटर, समुद्री मछलियों, पनीर और मशरूम में ये प्रचुर मात्रा में पाए जाते है, जिससे इसमें अलग से इसका इस्तेमाल नहीं किया जाता और यह हानिकारक भी नहीं होता है. इसलिए अगर कोई व्यक्ति स्वस्थ है और उसको इसे खाने से कोई समस्या नहीं है तो उसे इसका सेवन करने में कोई परेशानी नहीं होगी. यू. एस. फ़ूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने एमएसजी के सेवन को सामान्य रूप से सुरक्षित माना है.

अजिनोमोटो के नुकसान – Ajinomoto Side Effects in hindi

  • दृष्टि कमज़ोर बना सकता है।
  • ठंड लगने और कम्पन्न की समस्या हो सकती है।
  • ह्रदय चाप में वृद्धि ला सकता है।
  • सिर दर्द / माइग्रेन की तकलीफ हो सकती है।
  • सांस लेने में दिक्कत हो सकती है।
  • चक्कर आना और उलटी आने की प्रॉब्लम हो सकती है।
  • छाती, कमर और गर्दन में दर्द की शिकायत हो सकती है।

अजिनोमोटो का उपयोग

अजीनोमोटो पैरों की मासपेशियों और घुटनों में दर्द

विशेष रूप से चायनीज़ खाने में किया जाता है। यदि किसी सामान्य या चायनीज़ खाने को स्वादिष्ट बनाना है तो लोग इसका इस्तेमाल करते है। चायनीज़ खाने जैसे नूडल्स, सूप आदि कई प्रकार के खाने के व्यंजन में इसका इस्तेमाल किया जाता है।

Last updated on 16/11/2019 6:07 PM

Read More :

शिलाजीत का सेवन करते समय ध्‍यान रखें ये बातें – Shilajit Dosage in hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here