स्वाथ्य और सेहत हर रंग में Swthe and health in every color

हर रंग का जीवन में अपना अलग महत्व होता है, उसी प्रकार हर कलर के खाद्द पदार्थों का भी हमारी सेहत पर अलग अलग प्रभाव है, क्योंकि हर रंग में अलग-अलग विटामिन और एंटी-ऑक्सीडेंट होते है, जो सेहत के लिए जरूरी है।

स्वाथ्य और सेहत हर रंग में Swthe and health in every color

हड्डियों के लिए पीला रंग

नींबू, अनानास, पपीता, मक्का आदि में बीटा-केरोटीन, फ्लेवोनॉयड, पोटेशियम और विटामिन, सी होता है। ये पोषक तत्व शरीर को हानि पहुचने वाले फ्री रेडिकल्स से बचाते है। शरीर में कोलेजन की मात्रा बढ़ाने के साथ हड्डियों की सेहत को सुधारते है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बनाये रखने में सहयोग देते है तथा पाचन क्रिया को बेहतर बनाते है।

याददाश्त बढ़ने के वास्ते बैगनी रंग

काले और बैगनी रंग के फल-सब्ज़ियों, जैसे, ब्लैक बेरी, ब्लूबेरी, बैगनी पत्तागोभी, बैगन, अंगूर चौलाई आदि में ल्यूटिन, विटामिन सी, फाइबर, फ्लेवोनॉयड, इलैजिक एसिड और क्वेरसेटिन होते है। जो शरीर को मजबूती देने के साथ याददश्त भी बढ़ाते है पाचन-तंत्र सुदृढ़ करने के अलावा कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है। आयरन युक्त होने के कारण ये खून की कमी को भी दूर करते है।
( एक शोध के मुताबिक फल व् सब्ज़ी प्राकृतिक रूप से जितना रंगीन होते है- वे उतने ही अधिक स्वदिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक होते है )

हार्मोन में संतुलन के लिए सफ़ेद रंग

केला, मशरूम, प्याज, गोभी, लहसुन, सोयाबीन, आलू, शलगम, मूली, आदि में एलीसिन नामक फाइटो-केमिकल्स होते है। इसके अलावा बीटा ग्लूकेन, ECGC होते है, जो इम्युनिटी को बढ़ाते है ये शरीर में हार्मोनल स्टार को संतुलित करते है। सफ़ेद रंग की सब्ज़ियों और फलों में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स धमनी के फंक्शन को सुचारू रूप से काम में मदद करते है, सफ़ेद रंग के मशरूम में फ्लेवोनॉयड पाए जाते है, जो कोशिकाओं को नष्ट होने से बचाने में सहायक होते हैं। यह स्तन कैंसर के खतरों को रोकने के अलावा हार्मोन में भी संतुलन बनाए रखता है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.