सऊदी अरब देश की महिलाओं के लिए बने अजब गजब कानून, Saudi Arabia Rules

1
863
सऊदी अरब देश की महिलाओं

आप सऊदी अरब को किसलिए जानते हैं? पवित्र मक्का मदीना के लिए या फिर तेल, रेत, अमीर शेखों के लिए? आइए जानते हैं इस देश के बारे में कुछ ऐसे फैक्ट्स जो आपको शायद ही पता हों…

सऊदी अरब देश की महिलाओं के लिए बने अजब गजब कानून, Saudi Arabia Rules

सऊदी अरब के 10 सबसे कठोर कानून इस प्रकार हैं

1. सऊदी अरब में महिलाओं को हर समय हिजाब में रहना पड़ता है. यहां तक की वहां पर किसी महिला का रेप होता है तो उस दोषी को तब तक सजा नहीं मिलती है जब तक की केस के चार गवाह न हो.
2.सऊदी अरब में विहावित महिलाएं गैर मर्दों से नहीं मिल सकती है. वहां की महिलाएं जब भी किसी पब्लिक प्लेस में जाती हैं तो उनके साथ घर का एक पुरूष सदस्य भी जाता है. अन्यथा वो कानून तोड़ने के दायरे में आता है.
3. सऊदी अरब दुनिया के उन चुनिंदा देशों में से एक है जहां महिलाओं पर कुछ खास पाबंदी लगी हूई है. यहां की महिलाएं अगर घर से बाहर निकलती हैं तो शरीर में उनका केवल आंख और हाथ दिखना चाहिए. बाकी सब हिजाब से ढका रहता है.

4. सऊदी अरब मौत में की सजा देने वाले मुल्कों में नंबर चार पर आता है. यहां पर भीड़ के बीच में ही व्यक्ति का गला काटकर मौत की सजा दी जाती है.
5. सऊदी अरब दुनिया का एकमात्र ऐसा देश माना जाता है जहां की महिलाओं को बैंक एकाउंट खोलने के लिए पति से इजाजत लेनी पड़ती है. अन्यथा एकाउंट नहीं खुलेगा.
6. हज कोटाः इस्लाम में मक्का और मदीना को दो पवित्र शहर माना जाता है और गैर-मुस्लिमों को यहां आने की इजाजत नहीं है। हर साल यहां दुनियाभर से बड़ी संख्या में मुस्लिम तीर्थयात्री आते हैं। सऊदी अरब इस यात्रा के लिए हर देश को स्पेशल कोटा देता है जिससे यहां आने वालों की संख्या को नियंत्रित किया जा सके।
7. 2012 में, सरकारी दफ्तरों और अधिकतर सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान पर बैन लगा दिया। Saudi Arabia के आंकड़े बताते हैं कि देश के आम लोग औसतन 8 डॉलर हर रोज सिगरेट पर खर्च करते हैं।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here