हिंदी कहानियां

कविताएं | Hindi Poems | Poetry: जिंदगी एक रंग मंच की कला है

कविताएं | Hindi Poems | Poetry – जिंदगी एक रंगमंच है और हम लोग इस रंगमंच के कलाकार, सभी लोग जीवन (Life) को अपने- अपने नजरिये से देखते है। जिंदगी एक रंगमंच है कोई कहता है जीवन एक खेल है, कोई कहता है जीवन ईश्वर का दिया हुआ उपहार है, कोई कहता है जीवन एक यात्रा है, कोई कहता है जीवन एक दौड़ है, मनुष्य का जीवन एक प्रकार का खेल है – और मनुष्य इस खेल का मुख्य खिलाडी, यह खेल मनुष्य को हर पल खेलना पड़ता है। चाहे खुश होकर खेले या दुखी होकर… जब खेलना ही है हर हाल में तो खुश होकर खेलो यार !

जिंदगी एक रंग मंच की कला है-

जिंदगी एक रंगमंच है :  एक बार की बात है, एक विद्योत्तमा नाम की लडकी थी, यह जब भी अपने ससुराल से लौटती, तो वह अपने मां के सामने परेशनियों का रोना रोने बैठ जाती। कुछ नहीं तो यही कि सहेली सहेली से ही झगडा हो गया, मनपसंद ड्रेस प्रेस कर रही थी कि जल गई। इस बार वह बोली, मम्मी, देखों न, मेरी जिंदगी के साथ सब कुछ उल्टा हो रहा है। मां ने मुस्कुराते हुए कहा, यह उदासी और रोना छोडा। (जिंदगी एक रंगमंच है)

जिंदगी एक रंग मंच की कला

                                                जिंदगी एक रंगमंच है – जिंदगी एक रंग मंच की कला है 

चलो मेरे साथ रसोई में। तुम्हें आज तुम्हारी मनपसंद दाल की कचैडियों खिलाती हूं। लडकी का रोना बंद हो गया। वह हंसते हुए बोली, दाल-कचैडी तो मेरा प्रिय व्यंजन है। कितनी देर में बनेगी? (जिंदगी एक रंगमंच है)

मां ने सबसे पहले मैदे का डिब्बा उठाया और कहा, ले पहले मैदा खा ले। लडकी मुंह बनाते हुए बोली, इसे कोई खाता है भला। मां ने फिर मुस्कुराते हुए कहा, तो ले, सौ ग्राम दाल ही खा ले। फिर नमक और मिर्च-मसाले का डिब्बा दिखाकर कहा, लो इन्ही का स्वाद चख लो। ऊल-जलूल प्रस्ताव सुनकर विद्योत्तमा झल्ला उठी-मां, आज तुम्हें क्या हो गया है,(जिंदगी एक रंगमंच है)

जो मुझे इस तरह की अप्रिय चीजें खाने को दे रही हो?
मां ने कहा, बेटा, कचैडियां इन सभी चीजों से ही बनती हैं। और ये सभी वस्तुएं मिलकर, पककर ही कचैडी को स्वादिष्ट बनाती हैं। कच्ची सामग्री के मेल से पकवान बनते हैं।

मैं तुम्हें बताना चाह रही थी कि जिंदगी का पकवान भी इसी प्रकार की अप्रिय घटनाओं से परिपक्व बनता है। समस्याओं को अपनी चुनौती समझो। सहेली से झगडा हो गया है, तो अपना व्यवहार मीठा बनाओं कि फिर किसी से झगडा ही न हो। (जिंदगी एक रंगमंच है)

अगर आपको पोस्ट अच्छे लगी हो तो इसे शेयर और करना न भूले। आप हमसे  Facebook, +google, Instagram, twitter, Pinterest और पर भी जुड़ सकते है ताकि आपको नयी पोस्ट की जानकारी आसानी से मिल सके। हमारे Youtube channel को Subscribe जरूर करे।

Sending
User Review
0 (0 votes)

Leave a Comment